logo

हिसार में हादसा: कमरे के अंदर सो रहा पति जिंदा जला ; पत्नी के बच्चों सहित मायके जाने से जान बची

अनुमान लगाया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट के कारण फ्रिज में आग लगने से हादसा हुआ है।
 
हिसार में हादसा: कमरे के अंदर सो रहा पति जिंदा जला ; पत्नी के बच्चों सहित मायके जाने से जान बची

Mhara Hariyana News

हरियाणा के हिसार स्थित सूर्य नगर में पानीपत जैसा हादसा देखने को मिला। कमरे में सो रहे 40 वर्षीय कर्ण की जिंदा जलकर मौत हो गई। हालांकि 3 बच्चों के साथ पत्नी के मायके जाने से उनकी जान बच गई। अनुमान लगाया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट के कारण फ्रिज में आग लगने से हादसा हुआ है। सूचना मिलने पर HTM थाना पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन परिजन शव को लेकर पहले ही गांव खरबला चले गए।

सुबह पत्नी आई तो पता चला
जानकारी के अनुसार सूर्य नगर की गली नंबर 11 में रहने वाले 40 वर्षीय कर्ण एक फैक्ट्री में सफाई कर्मचारी का काम करता था। उसकी पत्नी सोनू अपने 3 बच्चों के साथ शनिवार रात को अपने चाचा के घर गई थी। रात को कर्ण कमरे में अकेला सो रहा था। सुबह उसकी पत्नी चाय लेकर घर आई तो उसने देखा कि कमरे के अंदर से धुआं बाहर आ रहा था।

यह देख उसने पड़ोसियों को बताया और कमरा खोलकर देखा तो अंदर धुआं ही धुआं और फर्श पर कर्ण जली हुई हालत में था। कमरे के अदंर रखा फ्रिज और कपड़े भी जलकर राख हो चुके थे। यह देख परिजनों को सूचना दी। वह मौके पर पहुंचे और शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव खरबला ले गए।

फ्रीज पर रखा था खाना
सूचना मिलने पर सूर्य नगर पुलिस चौकी इंचार्ज रविंद्र अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। लेकिन पहले ही परिजन शव को लेकर गांव चले गए थे। फ्रिज के ऊपर ‌‌‌टिफिन में रोटियां रखी हुई थीं। पुलिस का कहना है कि हमारे आने से पहले परिजन शव को लेकर गांव चले गए। कयास लगाए जा रहे हैं कि शॉर्ट सर्किट के कारण फ्रीज में आग लगने से हादसा हुआ है। परिवार वालों ने कानूनी कार्रवाई से मना कर दिया।

कुछ महीनों से रह रहे थे किराए पर
मृतक करण सिंह फैक्ट्री में मजदूरी करता था। बीते कुछ माह से सूर्य नगर की गली नंबर 11 में बलवान सिंह के मकान में ‌किराए पर रहता था।

पानीपत के घर में जिंदा जला परिवार:रात में गैस लीक, सुबह चाय बनाने को आग जलाई तो धमाका, पति-पत्नी और 4 बच्चों की मौत

हरियाणा में पानीपत के तहसील कैंप में राधा फैक्ट्री के पास गुरुवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। यहां एक घर में गैस सिलेंडर लीक हो गया। जिससे पूरा घर आग की चपेट में आ गया। उस वक्त घर के अंदर पति-पत्नी और 4 बच्चे मौजूद थे। पता चला है कि जिस वक्त गैस सिलेंडर में आग लगी, वह खाना बनाने की तैयारी कर रहे थे। 

पानीपत में परिवार के 6 लोग जिंदा कैसे जले?:8 गुणा 10 फुट का कमरा; भागने की जगह नहीं मिली, दरवाजा भी लॉक था


पानीपत के तहसील कैंप में गुरूवार सुबह अब्दुल करीम व अफरोजा 4 बच्चों समेत जिंदा जल गए। शुरूआती जांच के बाद SP शशांक कुमार सावन बोले- यहां रात में गैस सिलेंडर लीक हुआ, सुबह चाय बनाने के लिए आग जलाई तो धमाका हो गया। जिसके बाद सभी घुटन से बेहोश हो गए और झुलसकर जिंदा जल गए।