logo
Meghalaya Mob Lynching: जेल से भागे चार कैदियों को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला, छानबीन जारी
मेघालय के पश्चिम जयंतिया हिल्स जिले में रविवार को भीड़ ने जेल से भागे चार विचाराधीन कैदियों की पीट-पीटकर हत्या कर दी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि शनिवार को जोवाई जेल से 6 कैदियों का एक ग्रुप फरार हो गया था. उनमें से 5 कैदी रविवार को करीब 70 किमी दूर शांगपुंग गांव पहुंचे.
 
Meghalaya Mob Lynching

Mhara Hariyana News

पूर्वोत्तर राज्य मेघालय से मॉब लिंचिंग एक बड़ी खबर सामने आई है। मिली जानकारी के अनुसार यहां भीड़ ने चार अपराधियों को पीट-पीट कर मार डाला। बताया गया कि शनिवार को मेघालय के जोवाई जेल से छह कैदी भाग गए थे। इनमें से चार कैदियों ने ग्रामीणों ने घेर लिया और पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। फिलहाल चारों मृतकों की पहचान कराई जा रही है।

घटना की पुष्टि मेघालय के मेघालय के डीजीपी एलआर बिश्नोई ने की है। उन्होंने बताया कि शनिवार को मेघालय (Meghalaya) की जोवाई जेल (Jowai Jail) से छह कैदी जेल कर्मियों को चमका देकर भाग निकले थे। इन छह में चार कैदियों को पश्चिम जयंतिया हिल्स जिले (West Jaintia Hills district) के शांगपुंग गांव (Shangpung Village) में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला।

मेघालय के डीजीपी ने की घटना की पुष्टि

मेघालय के डीजीपी एलआर बिश्नोई ने बताया कि चारों कैदियों के शवों को बरामद कर लिया गया है। उसे अस्पताल ले जाया जा रहा है। जहां उनकी पहचान कराई जाएगी। इधर जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार फरार अपराधियों का नाम आई लव यू तलंग, रमेश डाखर, मार्संकी तारियांग, रिक्मेनलांग लामारे, शिदोरकी दखर और लोदेस्टार तांग था. 10 सितंबर को एक गार्ड पर चाकू से हमला करने के बाद ये अपराधी जोवाई जिला जेल से भाग गए थे।

क्या होती मॉब लिंचिंग की घटना

फिलहाल मामले में विस्तृत जानकारी का इंतजार है। बताते चलें कि मॉब लिचिंग वो घटना होती है जिसमें भीड़ द्वारा किसी शख्स को इतना पीटा जाता है कि उसकी मौत हो जाती है। मॉब लिंचिग एक सामूहिक अपराध है। ऐसे में इसके दोषियों की पहचान कर उनपर कार्रवाई करना बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य होता है।