logo

'सीआरपीएफ' में 23 दिन में दो इंस्पेक्टर और एक एसआई सहित 10 जवानों ने की आत्महत्या

 
'सीआरपीएफ' में 23 दिन में दो इंस्पेक्टर और एक एसआई सहित 10 जवानों ने की आत्महत्या
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, New Delhi

देश के सबसे बड़े केंद्रीय अर्धसैनिक बल 'CRPF' में महज 23 के भीतर दो Inspector और एक SI सहित 10 Jawanों ने Sucide कर ली है। इनमें से एक Inspector की बॉडी पंखे से झूलती हुई मिली तो दूसरे ने अपनी राइफल से खुद को गोली मार ली। SI ने अपने गले में फंदा लगाकर जान दे दी। 

CRPF में पिछले पांच वर्ष के दौरान 240 से अधिक Jawan Sucide कर चुके हैं। अगर सभी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की बात करें तो पांच वर्ष के दौरान 654 से अधिक Jawans ने Sucide कर ली है। इस तरह की घटनाओं पर गृह मंत्रालय और बल की तरफ से एक ही जवाब मिलता रहा है कि संबंधित Jawan को किसी तरह की कोई पारिवारिक समस्या रही होगी। 

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, संसद में जवाब देते हैं कि इन बलों में Sucideओं और भ्रातृहत्याओं को रोकने के लिए जोखिम के प्रासंगिक घटकों एवं प्रासंगिक जोखिम समूहों की पहचान करने तथा उपचारात्मक उपायों से संबंधित सुझाव देने के लिए एक कार्यबल का गठन किया गया है। कार्यबल की रिपोर्ट तैयार हो रही है। 

10 Jawans द्वारा Sucide करने का सिलसिला
12 अगस्त को पुलवामा स्थित 112 बटालियन के सिपाही अजय कुमार ने Sucide कर ली थी। वे झारखंड के रहने वाले थे। 15 अगस्त को Inspector चित्तरंजन बारो (45 वर्ष) ने असम स्थित बल की 20 बटालियन में अपना जीवन खत्म कर लिया। वे मूल रूप के असम के ही कामरूप जिले के रहने वाले थे। 
अभी उनकी सेवा को 19 साल पूरे हुए थे। सुबह सात बजे उन्होंने अपने गले में फंदा लगा दिया। घटना के वक्त Inspector के हाथ और पांव बंधे हुए थे। उनके गले में जो रस्सी थी, उसी से उनके हाथ बंधे हुए थे। पांव, किसी दूसरे कपड़े से बंधे हुए मिले। 17 अगस्त को सिपाही Rahul कश्यप ने ग्रुप सेंटर जीएनआर में अपना जीवन खत्म कर लिया। 
वे उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे। 19 अगस्त को छत्तीसगढ़ स्थित 210 कोबरा में Inspector शफी अख्तर ने अपनी राइफल से खुद को गोली मार ली थी। वे मूलत: Delhi के रहने वाले थे। 

एक ही दिन में दो Jawans ने की Sucide
19 अगस्त को सिपाही जगदीश प्रसाद मीणा ने Sucide कर ली थी। यह घटना झारखंड स्थित 158 बटालियन में हुई। वे राजस्थान के रहने वाले थे। 25 अगस्त को ओडिशा स्थित बल की 127 वीं बटालियन में हवलदार रमेश सी. लाल ने अपना जीवन खत्म कर लिया। वे केरल के रहने वाले थे। 
एक सितंबर को ग्रुप सेंटर काठगोदाम में SI नरेश कुमार ने Sucide कर ली। वे यूपी के रहने वाले थे। दो सितंबर को जम्मू कश्मीर स्थित सी/4 बटालियन के हवलदार विशिष्ट नारायण यादव ने Sucide कर ली। वे बिहार के रहने वाले थे। दो सितंबर को श्रीनगर स्थित 54वीं बटालियन के सिपाही संजय कुमार ने अपना जीवन समाप्त कर लिया। 
वे Delhi के रहने वाले थे। 4 सितंबर को भोपाल स्थित डी/107 बटालियन के सिपाही मोगली सुधाकर ने अपना जीवन समाप्त कर लिया। वे तेलंगाना के रहने वाले थे।