logo

रियल एस्टेट के लिए शानदार रहा साल 2023, एनसीआर में हर रोज बिके 273 मकान

 
रियल एस्टेट के लिए शानदार रहा साल 2023, एनसीआर में हर रोज बिके 273 मकान
WhatsApp Group Join Now


भारतीय रियल एस्टेट सेक्टर के लिए साल 2023 सबसे बेहतर साबित हुआ है. 2023 के पहले नौ महीनों की बात करें तो घरों की बिक्री अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर रही है. ब्याज दरों और रेजिडेंस की कीमतों दोनों में वृद्धि के बावजूद पहले नौ महीनों में दिल्ली-एनसीआर समेत टॉप 7 शहरों में 349,000 मकान बिक चुके हैं. जो वर्ष 2022 में दर्ज की गई कुल बिक्री का 96 प्रतिशत है. माना जा रहा है कि इनमें से करीब एक लाख मकान दिल्ली-एनसीआर में बिके हैं. ऐसे में हर दिन 273 मकान बिके हैं. इनमें 84,400 इकाइयां लग्जरी घरों की थीं जिनकी कीमत 1.5 करोड़ रुपये से अधिक थी. इनमें 115 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई है. सबसे ज्यादा बिक्री नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में देखी गई है. विशेषज्ञों की मानें तो साल 2010 के बाद से यह पहला साल रहा है जब देशभर में दस लाख से ज्यादा मकानों की बिक्री हुई है.


बिक्री के लिहाज से देखा जाए तो यह साल अच्छा साबित हुआ है. जिस तेजी से मकानों की बिक्री हो रही है और बॉयर्स का इस सेक्टर की तरफ भरोसा बढ़ रहा है. बिक्री की बात करें तो साल 2023 में लग्जरी घरों की डिमांड सबसे अधिक रही क्योंकि होम बॉयर्स की मांग बड़े घरों की ओर था. बॉयर्स की क्रय शक्ति में वृद्धि के कारण यह ट्रेंड नए साल यानी 2024 में भी जारी रहने की उम्मीद है. ग्रुप 108 के मैनेजिंग डायरेक्टर संचित भूटानी का कहना है कि भारत का रियल एस्टेट बाजार 2023 में शानदार रहा.

नोएडा में 2020 से 2023 की तीसरी तिमाही तक 10 मिलियन वर्ग फुट से अधिक ऑफिस स्पेस को लीज पर दिया गया, जिससे यह एक प्रमुख कमर्शियल डेस्टिनेशन के रूप में स्थापित हो गया. वित्तीय वर्ष कई अनुकूल कारक लेकर आया, जिनमें स्थिर रेपो रेट, बुनियादी ढांचे पर बढ़ता जोर, अत्याधुनिक परियोजनाओं की उपलब्धता, बेहतर कनेक्टिविटी और बढ़ती मांग शामिल हैं. अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों को आमंत्रित करते हुए रिटेल सेक्टर भी 2022 की तुलना में अपने उच्च स्तर पर पहुंच गया है. हम 2024 में अपने प्रोजेक्ट की सप्लाई और मांग के बीच निरंतर संतुलन के साथ एक समान पैटर्न की आशा करते हैं.