logo
विदेश में नौकरी का झांसा देकर म्यांमार में 300 भारतीयों को बनाया बंधक
60 लोग तमिलनाडु के, गिरोह करवा रहा है जबरन साइबर क्राइम
 
विदेश में नौकरी का झांसा देकर म्यांमार में 300 भारतीयों को बनाया बंधक 

Mhara Hariyana News, New Delhi। विदेश में नौकरी का झांसा देकर म्यांमार के म्यावाडी में एक अंतरराष्ट्रीय गिरोह ने 300 से अधिक भारतीयों को बंधक बनाया हुआ है। इस का खुलासा तब हुआ जब तमिलनाडु के कुछ लोगों ने खुद को बचाने के लिए अपने परिवारजनों को  एसओएस मैसेज (आपातकालीन मैसेज) भेजा । इसमें केंद्र और तमिलनाडु सरकार से बचाने की अपील की। अपहृत लोगों के अनुसार गिरोह के सदस्य उन से जबरन साइबर क्राइम करवा रहे हैं। इंकार करने पर पीटा जाता है और इलेक्ट्रिक शॉक देकर प्रताडि़त किया जाता है। अपहृत भारतीयों में 60 से अधिक लोग तमिलनाडु के बताए जाते हैं। इस गिरोह ने कुछ अन्य देशों के लोगों को भी बंधक बना रखा है। 


साइबर ठगी से इंकार करने किया प्रताडि़त
सोमवार को कराईकलमेडु के मछुआरे राजा सुब्रमण्यम (60) ने पुडुचेरी के कराईकल के जिला कलेक्टर से अपने बेटे को बचाने की अपील की। इस गिरोह ने सुब्रमण्यम के बेटे को भी बंधक बना रखा है। सुब्रमण्यम के बड़े बेटे सुधाकर ने बताया कि उसका भाई दुबई में डेटा एंट्री ऑपरेटर data entry operator
 के रूप में काम कर रहा था। इस साल की शुरुआत में उनके प्रबंधक ने पदोन्नति कर थाईलैंड कार्यालय Thailand Office
 जाने के लिए कहा। थाईलैंड से उसे और अन्य लोगों को अवैध रूप से म्यांमार ले जाया गया। सुधाकर ने बताया कि मेरे भाई ने कहा कि कुछ दिन पहले उसके मालिकों ने उसके सहयोगी को साइबर ठगी करने से इनकार करने पर जमकर पीटा। इससे उसके सिर और कान पर गंभीर चोटें आईं। उनके साथ कई लोग अभी भी गिरोह के जाल में फंसे हुए हैं।

सरकार के नियंत्रण में नहीं है इलाका
म्यावाड़ी इलाका म्यांमार सरकार के नियंत्रण में नहीं है। यहां हथियारबंद जातीय समूहों का वर्चस्व है। परिवार को संदेश भेजने वाले बंधकों ने गिरोह के सदस्यों को मलेशियाई चीनी बताया है।

दूतावास ने जारी की थी चेतावनी
यांगून में भारतीय दूतावास Indian Embassy
 ने 5 जुलाई को 'नौकरी का झांसा देने वाले बेईमान तत्वों के खिलाफ चेतावनी देते हुए एडवाइजरी जारी की थी। इसमें बताया गया था कि लोग नौकरी का झांसा देने वालों के झांसे में न आएं। इनसे सावधान रहे।

बंधकों को छुड़ाने की कोशिशें जारी
बताया जाता है कि इस मामले की सूचना मिलने के साथ ही भारतीयों की वापसी की कोशिशें तेज हो गईं हैं। सूत्रों ने बताया कि अब तक 30 से अधिक भारतीयों को बचाया जा चुका है। अन्य लोगों को भी अलग-अलग संपर्कों के माध्यम से वापस लाने की कोशिश जारी है। वहीं तमिलनाडु की राजनीतिक पार्टी एएमएमके के महासचिव टीटीवी दिनाकरन और भाकपा के प्रदेश सचिन आर. मुथारासन ने केंद्र और तमिलनाडु सरकार से म्यांमार में बंधक बनाए भारतीयों को सुरक्षित वापसी के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया है।

----------------