logo

गुजरात में AAP कैंडिडेट ने वापस लिया नामांकन, सिसोदिया बोले- BJP के गुंडों ने दबाव देकर करवाया

AAP candidate withdraws nomination in Gujarat, Sisodia said - BJP goons forced him to get it done

 
AAP candidate withdraws nomination in Gujarat, Sisodia said - BJP goons forced him to get it done

Mhara Hariyana News:

गुजरात की सूरत पूर्व विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कंचन जरीवाला ने बुधवार को अपना नामांकन पत्र वापस ले लिया, जिसके बाद आप ने आरोप लगाया कि बीजेपी के कहने पर जरीवाला का अपहरण किया गया और उन पर नामांकन वापस लेने का दबाव बनाया गया. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर कंचन जरीवाला को अगवा करने समेत कई गंभीर आरोप लगाये.हालांकि, बीजेपी ने इस आरोप का खंडन करते हुए सिरे से खारिज किया है.


वहीं, चुनाव आयोग के ऑफिस से शिकायत देकर बाहर आने के बाद मनीष सिसोदिया ने बताया कि चुनाव आयोग से हमने मांग की है कि सूरत ईस्ट में चुनाव प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए. हमारे उम्मीदवार को पहले अपहरण किया गया. फिर बंदूक़ की नोंक पर नामांकन वापस लिया गया. चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए. उम्मीद है कि इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया इस पर जल्द एक्शन लेगा.

हार के डर से BJP ने जरीवाला को किया अगवा- सिसोदिया
दरअसल, दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जरीवाला और उनके परिवार के सदस्य मंगलवार से लापता हैं. सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी गुजरात चुनाव में बुरी तरह हार रही है और वह परेशान होकर इतने निचले स्तर पर गिर गई कि उसने सूरत पूर्व से हमारे उम्मीदवार का अपहरण कर लिया. उन्होंने कहा कि, हार के डर से बीजेपी के गुंडों ने सूरत से आप के उम्मीदवार कंचन जरीवाला का अपहरण कर लिया.

सिसोदिया बोले- जरीवाला का नहीं बल्कि लोकतंत्र का अपहरण
वहीं, सिसोदिया ने आरोप लगाया कि बीजेपी के गुंडों ने जरीवाला का नामांकन रद्द कराने की भी कोशिश की थी, लेकिन निर्वाचन अधिकारी ऐसा नहीं कर सके. क्योंकि उनके कागजात में कोई कमी नहीं थी. सिसोदिया ने कहा, यह केवल हमारे उम्मीदवार का ही नहीं, बल्कि लोकतंत्र का अपहरण है. गुजरात में हालात बहुत खतरनाक है. आप नेता ने गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) पर भी जरीवाला का पता लगाने और उन्हें बचाने के लिए उचित कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया.

मनीष सिसोदिया ने CEO की कार्यप्रणाली पर खड़े किए सवाल
मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि उम्मीदवार के पिछले 24 घंटे से लापता होने के बावजूद सीईओ यही कहते रहे कि जिला मजिस्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक इस मामले को देख रहे हैं. उन्होंने कहा, इस घटना ने सीईओ की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने इस मामले में बातचीत करने के लिए मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार से मिलने का समय मांगा. हालांकि, बीजेपी ने इस सीट से मौजूदा विधायक अरविंद राणा को खड़ा किया है.गौरतलब है कि, गुजरात विधानसभा की 182 सीटों के लिए एक दिसंबर एवं पांच दिसंबर को चुनाव होगा और मतगणना आठ दिसंबर को होगी.

इटालिया बोले- भारी दबाव का मिलता है संकेत
इस मामले में गुजरात आप के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया ने दावा किया कि जरीवाला सत्तारूढ़ दल के दबाव में अपनी उम्मीदवारी वापस लेने के लिए बुधवार को निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में भारी पुलिस सुरक्षा के बीच पहुंचे थे. इस दौरान बीजेपी के गुंडों ने उन्हें घेर रखा था. उन्होंने कहा कि जब मीडियाकर्मियों ने जरीवाला से सवाल किए, तो उनके आसपास मौजूद लोग उन्हें तुरंत वहां से ले गए. इटालिया ने आरोप लगाया कि जरीवाला लापता थे और उन्हें बीजेपी के गुंडे किसी अज्ञात स्थान पर ले गए और उन पर चुनाव से दूर रहने का दबाव बनाया गया. उन्होंने कहा कि जरीवाला जिस प्रकार नामांकन लेने आए. उससे संकेत मिलता है कि उन पर भारी दबाव था.

इटालिया ने कहा, यदि कोई खुद अपनी उम्मीदवारी वापस लेना चाहता है, तो वह पुलिस की भारी सुरक्षा और 50 से 100 गुंड़ों के साथ कार्यालय क्यों आएगा. उन्होंने निर्वाचन आयोग से मामले का संज्ञान लेने का आग्रह किया.

BJP बोली- AAP अपने घर पर ध्यान दें
बहरहाल, बीजेपी की सूरत शहर इकाई के अध्यक्ष निरंजन झांझमेरा ने इन आरोपों का खंडन किया और कहा कि आप को ऐसा करने के बजाय अपने घर पर ध्यान देना चाहिए. इटालिया ने कहा कि आप इस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए कानूनी मामलों के विशेषज्ञों के अपने दल से सलाह लेगी.

राघव चढ्ढा बोले- BJP के गुंडों ने किया अपरहरण
आप की गुजरात इकाई के सह-प्रभारी राघव चड्ढा ने आरोप लगाया कि बीजेपी के गुंडों ने मंगलवार को जरीवाला का अपहरण कर लिया ताकि उन पर उम्मीदवारी वापस लेने का दबाव बनाया जा सके. चड्ढा ने कहा कि पार्टी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को इस बारे में सूचित कर दिया है और मामले में एक लिखित शिकायत सौंपी जाएगी. उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस और प्रशासन को भी इसकी सूचना दे दी गई है.