logo

Air India को देर से फ्लाइट उड़ाना पड़ा भारी, अब यात्रियों को लौटाने होंगे इतने करोड़ रुपये

Air India had to fly the flight late, now passengers will have to return so many crores

 
Air India had to fly the flight late, now passengers will have to return so many crores

Mhara Hariyana News:

Tata-Led Air India : अमेरिका ने टाटा ग्रुप के स्वामित्व वाली एयर इंडिया (Tata-Led Air India) को 121.5 मिलियन डॉलर (9,88,24,51,575 रुपए) का रिफंड करने और 14 लाख डॉलर (11,38,82,370) का जुर्माना भरने का आदेश जारी किया है. अमेरिका (US) ने पैसेंजर को रिफंड के तौर पर 121.5 मिलियन डॉलर देने के साथ ही 1.4 मिलियन डॉलर की पेनाल्टी भी लगाई है. अमेरिका ने छह विमानन कंपनियों (Six Airlines Company) पर यह कार्रवाई की है.


इस मामले में अमेरिकी परिवहन विभाग के अफसरों का कहना है कि उड़ानों को रद्द करने या बदलने के कारण यात्रियों को रिफंड देने में बहुत ज्यादा देरी करने के कारण ये आदेश दिया गया है. ऐसे ज्यादातर मामले कोरोना महामारी के दौरान के हैं. अमेरिकी परिवहन विभाग ने सोमवार को कहा कि एयर इंडिया उन छह एयरलाइनों में शामिल है, जिन्होंने रिफंड के रूप में कुल 60 करोड़ अमरीकी डॉलर से अधिक का भुगतान करने पर सहमति जताई है.

अमेरिकी परिवहन अधिकारियों ने कहा कि अनुरोध पर रिफंड की एयर इंडिया की नीति परिवहन विभाग की नीति के विपरीत है. जो फ्लाइट रद्द करने या उड़ान में बदलाव के मामले में एयरलाइंस को कानूनी रूप से टिकट वापस करने के लिए बाध्य करती है. बहरहाल जिन मामलों में एयर इंडिया को धनवापसी का भुगतान करने के लिए कहा गया था और वह दंड का भुगतान करने के लिए सहमत हुए थे, वे टाटा के एयर इंडिया के अधिग्रहण से पहले के थे.

100 दिनों से अधिक का लिया समय
एक आधिकारिक जांच के मुताबिक एयर इंडिया ने उन उड़ानों के लिए परिवहन विभाग के साथ दायर की गई 1,900 रिफंड शिकायतों में से आधे से अधिक को निपटाने में 100 दिनों से अधिक का समय लिया, जिन्हें एयर इंडिया ने रद्द कर दिया था या उनमें बड़ा बदलाव किया था. फिलहाल एयर इंडिया उन यात्रियों को रिफंड की प्रक्रिया में लगने वाले समय के बारे में एजेंसी को जानकारी दे सका, जिन्होंने सीधे एयर इंडिया से शिकायत दर्ज कराई थी और रिफंड का अनुरोध किया था. एअर इंडिया द्वारा बताई गई रिफंड पॉलिसी के बावजूद व्यवहार में एअर इंडिया ने समय पर रिफंड नहीं दिया.

देरी होने से काफी नुकसान
अमेरिकी परिवहन विभाग ने कहा कि इसके कारण यात्रियों को अपना रिफंड हासिल करने में बहुत देरी होने से काफी ज्यादा नुकसान हुआ. एयर इंडिया के अलावा जिन अन्य एयरलाइनों पर जुर्माना लगाया गया, उनमें फ्रंटियर, टीएपी पुर्तगाल, एयरो मैक्सिको, ईआई एआई और एवियांका शामिल हैं. परिवहन विभाग ने कहा कि एयर इंडिया को अपने यात्रियों को रिफंड के रूप में 121.5 मिलियन डॉलर और जुर्माने के रूप में 1.4 मिलियन डॉलर का भुगतान करने का आदेश दिया गया था.