logo

सऊदी अरब जाने वाले भारतीयों को बड़ी राहत, अब नहीं दिखाना होगा ये डॉक्यूमेंट

Big relief to Indians going to Saudi Arabia, now this document will not have to be shown

 
Big relief to Indians going to Saudi Arabia, now this document will not have to be shown

Mhara Hariyana News:

सऊदी अरब जाने की चाह रखने वाले भारतीयों के लिए यह एक राहत देने वाली खबर है. सऊदी एडमिनिस्ट्रेशन ने हाल ही में भारतीयों के लिए नए नियम लागू किए हैं. अब सऊदी जाने के लिए किसी भी भारतीय को पुलिस क्लियरेंस सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं होगी. बिना पुलिस क्लियरेंस सर्टिफिकेट के भारतीय सऊदी अरब का वीजा अप्लाई कर सकते हैं. सऊदी एंबेसी ने ऐलान किया कि यह भारत और सऊदी अरब के बीच एक “मजबूत संबंध” का नतीजा है कि भारतीय के लिए इस सुविधा का ऐलान किया गया है.


भारत में सऊदी एंबेसी ने एक ट्वीट के माध्यम से बताया कि सऊदी ने वीजा के लिए पुलिस क्लियरेंस सर्टिफिकेट की जरूरतों को खत्म कर दिया है. ट्वीट में कहा गया है कि किंग्डम और रिपब्लिक ऑफ इंडिया के बीच बेहतर संबंधों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है. सऊदी के यह नियम तत्काल प्रभाव से लागू होंगे, जिससे एप्लिकेशन प्रोसेसिंग, टूर फर्म्स के लिए सुविधाजनक होगी और पर्यटकों के लिए दस्तावेजों में एक से निजात मिलेगा.

सऊदी अरब में रहते हैं 20 लाख भारतीय
सऊदी एंबेसी द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि किंग्डम इस बात की सराहना करता है कि सऊदी अरब में दो मिलियन (20 लाख) से ज्यादा भारतीय शांतिपूर्ण तरीके से रह रहे हैं. यह फैसला तब आया है जब सऊदी क्राउन प्रिंस और प्रधानमंत्री मोहम्मद बिन सलमान (एमबीएस) इसी महीने भारत आने वाले थे. हालांकि व्यस्त शेड्यूल की वजह से उनकी यात्रा फिलहाल रद्द कर दी गई है. वह भारत आकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने वाले थे, लेकिन उन्हें जी20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इंडोनेशिया के बाली जाना पड़ा.


पीएम मोदी ने MBS को भारत आने का दिया था आमंत्रण
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी 15-16 नवंबर को बाली में थे, जहां जी20 देशों का दो दिवसीय शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया था. संभावना थी कि पीएम मोदी एमबीएस के साथ द्विपक्षीय वार्ता कर सकते हैं, लेकिन ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि उनकी मुलाकात हुई है. सऊदी क्राउन प्रिंस से सितंबर महीने में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मुलाकात की थी, जहां उन्होंने एमबीएस को प्रधानमंत्री की एक चिट्ठी सौंपी थी. पीएम मोदी ने क्राउन प्रिंस को भारत आने का आमंत्रण दिया था. एमबीएस 21 नवंबर को पाकिस्तान दौरे पर भी जाने वाले थे, लेकिन “सुरक्षा” कारणों से उन्होंने अपनी यात्रा रद्द कर दी थी.