logo

पाकिस्तान सरकार ने इमरान खान के दावे को किया खारिज, कहा- अब चूक का कोई खतरा नहीं

Government of Pakistan rejected Imran Khan's claim, said – now there is no danger of default

 
Government of Pakistan rejected Imran Khan's claim, said – now there is no danger of default

Mhara Hariyana News:

पाकिस्तान सरकार की ओर से दावा किया गया है किअब देश के सक्षम चूक का कोई खतरा नहीं है. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावा किया था कि नकदी संकट से जूझ रहे देश के समक्ष चूक का संकट है और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ सात अरब डॉलर के कर्ज कार्यक्रम की नौंवी समीक्षा को लेकर औपचारिक वार्ता में विलंब हो रहा है.


डॉन अखबार की खबर के मुताबिक वित्त और राजस्व राज्यमंत्री आईशा घॉस पाशा ने शुक्रवार को नेशनल एसेंबली में एक सवाल के जवाब में कहा, ऐसी कोई आशंका नहीं है. जब सत्ता हमारे हाथ में आई थी (अप्रैल में) तब हमें चिंता सता रही थी क्योंकि तब आईएमएफ कार्यक्रम निलंबित था और बाहर से वित्त जुटाने के रास्ते बंद थे.

‘पाकिस्तान सरकार का दावा- हालात बेहतर हुए हैं’
पाशा ने दावा किया कि सरकार ने कुछ कठिन फैसले लिए और आईएमएफ कार्यक्रम को पुनर्जीवित किया जिसके बाद हालात बेहतर हुए हैं. उन्होंने कहा कि आईएमएफ कार्यक्रम के निलंबित होने के कारण देश अन्य बहुपक्षीय और द्विपक्षीय एजेंसियों के साथ-साथ वाणिज्यिक बाजारों से भी अपनी बाहरी जरूरतों के लिए वित्त नहीं जुटा पा रहा था.

उन्होंने कहा कि आईएमएफ कार्यक्रम की सातवीं और आठवीं समीक्षा सफल होने के बाद अब पाकिस्तान पर चूक का खतरा नहीं है. राज्यमंत्री ने दावा किया कि देश का निर्यात बेहतर हुआ है, विदेशों में बसे पाकिस्तानी धन भेज रहे हैं और विदेशी प्रत्यक्ष निवेश में भी सुधार आया है.

इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को दावा किया कि राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने तत्काल और पारदर्शी चुनाव के मुद्दे पर बातचीत के लिए सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से मुलाकात की है. इससे पहले राष्ट्रपति अल्वी ने कहा था कि वह अगले सेना प्रमुख की उच्चस्तरीय नियुक्ति के संबंध में प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सलाह के अनुसार निर्णय लेंगे.अल्वी ने कहा कि वह इस बहुप्रतीक्षित प्रक्रिया में अवरोध पैदा नहीं कर सकते।

जियो न्यूज ने सूत्रों के हवाले से खबर दी कि खान ने लाहौर में वरिष्ठ पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में दावा किया, जहां उन्होंने अगले सेना प्रमुख की नियुक्ति के बारे में भी बात की.