logo

हिमाचल: ‘नड्डा के घर’ में क्या बचेगी BJP की साख? त्रिकोणीय मुकाबले में कहीं हो न जाए अनहोनी

Himachal: Will BJP's credibility survive in 'Nadda's house'? May there be no untoward incident in a triangular contest

 
अब क्रेडिट कार्ड के जरिए पेमेंट करने के लिए दुकान लेकर जाने की जरूरत नहीं, जानें कैसे उठा सकते हैं नई सुविधा का फायदा अगर आप क्रेडिट कार्ड के जरिए भुगतान करते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है. अब क्रेडिट कार्ड को स्टोर पर ले जाए बिना भी भुगतान कर सकते हैं. अब क्रेडिट कार्ड के जरिए पेमेंट करने के लिए दुकान लेकर जाने की जरूरत नहीं, जानें कैसे उठा सकते हैं नई सुविधा का फायदाअगर आप क्रेडिट कार्ड के जरिए भुगतान करते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है. TV9 Bharatvarsh TV9 Bharatvarsh | Edited By: राघव वाधवा  Updated on: Nov 17, 2022 | 6:51 PM  अगर आप Credit Card के जरिए भुगतान करते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है. अब क्रेडिट कार्ड को स्टोर पर ले जाए बिना भी भुगतान कर सकते हैं. ऐसा रूपे क्रेडिट कार्ड्स को BHIM App से लिंक करके किया जा सकता है. दरअसल, ऑनलाइन भुगतान को और बढ़ावा देने के लिए, नेशनल पेमेंट्स को-ऑपरेशन ऑफ इंडिया यानी NPCI ने हाल ही में एक नए Feature को लॉन्च किया है, जिसके जरिए ग्राहक अपने रूपे क्रेडिट कार्ड को भीम यूपीआई ऐप से लिंक कर सकते हैं.   ऐसे में, अब यूजर्स को अपने क्रेडिट कार्ड को फिजिकल दुकान पर ले जाकर स्वाइप मशीन पर उसे इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. भीम ऐप पर रूपे कार्ड जोड़ने के साथ, ग्राहक विक्रेता दुकानों पर उपलब्ध क्यूआर कोड को स्कैन कर सकेंगे और अपने यूपीआई अकाउंट से जुड़े रूपे क्रेडिट कार्ड्स के जरिए भुगतान कर पाएंगे.  अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड को स्टोर्स पर स्वाइप करने के लिए नहीं ले जाते हैं, तो इससे कोर्ड को खो देने या कार्ड की डिटेल्स के चोरी होने का खतरा भी खत्म हो जाएगा.  कौन कर सकता है रूपे क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल? मौजूदा समय में, भारतीय रिजर्व बैंक यानी RBI ने चुनिंदा बैंकों के ग्राहकों को भीम ऐप पर यूपीआई फीचर पर रूपे क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने की इजाजत दी है. NPCI द्वारा 20 सितंबर 2022 को जारी एक सर्रकुलर के मुताबिक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन बैंक के ग्राहक सबसे पहले यूपीआई पर भीम ऐप के साथ रूपे क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर पाएंगे.

Mhara Hariyana News:

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुका है. नतीजे आठ दिसंबर को आएंगे. इस चुनाव में बिलासपुर सीट हॉट बनी हुई है. इसकी वजह है… भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा बिलासपुर से ही आते हैं. ऐसे में इस ‘सीट को जीतना’ नड्डा की साख के तौर पर भी देखा जा रहा है. पार्टी के स्थानीय नेता कहते हैं कि इस सीट पर बीजेपीविधायक सुभाष ठाकुर टिकट के दावेदारों में से एक थे. लेकिन, अंत में टिकट नड्डा के चहेते त्रिलोक जम्वााल को मिला. त्रिलोक जम्वाल का यह पहला चुनाव है और वह संगठन में बेहद सक्रिय रहे हैं.


चुनाव से पहलेत्रिलोक जम्वााल मुख्यामंत्री जयराम ठाकुर के राजनीतिक सलाहकार रह चुके हैं. इसके अलावा वह संगठन में पार्टी के महासचिव भी रहे थे. उनके पास दो-दो पद थे. इसके बावजूद उन्हें टिकट दिया गया. इससे भाजपा के कई स्थानीय नेताओं में गुस्सा था. ऐसा कहा जाता है कि जम्वााल ने मुख्यमंत्री कार्यालय में रह कर लोगों के काम भी खूब करवाए और कभी कोई विवाद भी नहीं हुआ. स्थानीय नेता कहते हैं कि नड्डा के इशारे से ही वह एक सलाहकार के तौर पर मुख्यमंत्री कार्यालय में काम कर रहे थे.

त्रिलोक जम्वाल को टिकट दिए जाने से स्थानीय नेताओं में था रोष
भाजपा के मौजूदा विधायक सुभाष ठाकुर का टिकट काट दिए जाने के बाद त्रिलोक जम्वाल को टिकट तो दे दिया गया, लेकिन इससे बिलासपुर भाजपा में रोष फैल गया. हालांकि, नड्डा ने मौजूदा विधायक सुभाष ठाकुर को बागी नहीं होने दिया. लेकिन भाजपा की राज्य कार्यकारिणी के सदस्य सुभाष शर्मा बागी होकर बतौर निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतर गए.