logo

गुमनाम नायकों को सम्मान: PM मोदी कल लाचित बरफुकन की 400वीं जयंती के समापन समारोह को करेंगे संबोधित

Honoring unsung heroes: PM Modi to address closing ceremony of 400th birth anniversary of Lachit Barphukan tomorrow
 
Honoring unsung heroes: PM Modi to address closing ceremony of 400th birth anniversary of Lachit Barphukan tomorrow

Mhara Hariyana News:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 नवंबर को दिल्ली के विज्ञान भवन में सुबह 11 बजे लाचित बरफुकन की 400वीं जयंती के समापन समारोह को संबोधित करेंगे. पीएम साल भर चलने वाले समारोह के समापन समारोह को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री का देश के इतिहास के उन नायकों को सम्मानित करने का लगातार प्रयास रहा है, जिनके योगदान को उचित मान्यता नहीं मिली है. हाल के दिनों में ऐसे कई उदाहरण हैं, जब प्रधानमंत्री ने यह सुनिश्चित किया है कि ऐसे गुमनाम नायकों को युवाओं और बड़े पैमाने पर समाज के लाभ के लिए उचित महत्व, सम्मान और पदोन्नति दी जाए.


पीएम मोदी ने नवंबर 2022 में, एक सार्वजनिक कार्यक्रम ‘मनगढ़ धाम की गौरव गाथा’ में भाग लिया था. उन्होंने भील स्वतंत्रता सेनानी श्री गोविंद गुरु को श्रद्धांजलि दी. नवंबर 2022 में पीएम ने बेंगलुरु में श्री नादप्रभु केम्पेगौड़ा की 108 फीट लंबी कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया था, जो उनके योगदान को याद करते हुए बनाई गई थी. पीएम ने जुलाई, 2022 में, आंध्र प्रदेश के भीमावरम में महान स्वतंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू की 125वीं जयंती समारोह का शुभारंभ किया था.

पीएम ने इन नायकों को भी किया याद
जून, 2022 में पीएम ने मुंबई राजभवन में भूमिगत ब्रिटिश काल के बंकर के अंदर भारतीय क्रांतिकारियों की एक नई बनाई गई गैलरी ‘क्रांति गाथा’ का उद्घाटन किया था. बंकर साल 2016 में राजभवन के नीचे खोजा गया था. भारतीय क्रांतिकारियों की इस गैलरी में वासुदेव बलवंत फड़के, चाफेकर बंधु, बाल गंगाधर तिलक, वीर सावरकर, बाबाराव सावरकर, क्रांतिगुरु लहूजी साल्वे, अनंत लक्ष्मण कान्हेरे, राजगुरु, मैडम भीकाजी कामा, सहित अन्य शामिल हैं.नवंबर 2021 में, पीएम ने रांची में भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह-स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का उद्घाटन किया था.

आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों की यादें संजोईं
प्रधानमंत्री के विजन के तहत देश भर के विभिन्न राज्यों और क्षेत्रों के आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों की यादों को संजोते हुए दस आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालयों का भी निर्माण किया जा रहा है. फरवरी 2021 में पीएम ने उत्तर प्रदेश के बहराइच में महाराजा सुहेलदेव स्मारक की आधारशिला रखी थी. फरवरी 2019 में, पीएम ने पानीपत युद्ध के नायकों को सम्मानित करने के लिए ‘बैटल्स ऑफ पानीपत म्यूजियम’, पानीपत की आधारशिला रखी थी.