logo

जावेद मियांदाद ने बताया, क्यों फिक्सिंग करते हैं पाकिस्तान के क्रिकेटर

Javed Miandad told why Pakistani cricketers do fixing

 
जावेद मियांदाद ने बताया, क्यों फिक्सिंग करते हैं पाकिस्तान के क्रिकेटर

Mhara Hariyana News:

पाकिस्तान क्रिकेट टीम को आईसीसी टी20 विश्व कप-2022 के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था और इस हार के बाद टीम की जमकर आलोचना की गई थी. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने इस हार के बाद टीम के साथ मौजूद विदेशी कोचों पर सवाल खड़े किए है. मियांदाद ने कहा है कि विदेशी कोचों पर ध्यान ने देकर देश के पूर्व खिलाड़ियों को कोच बनाना चाहिए, ऐसा नहीं होता है तो ही फिक्सिंग होती है.


मियांदाद खुद पाकिस्तान टीम के कोच रह चुके हैं. पाकिस्तान के कई क्रिकेटर फिक्सिंग में फंस चुके हैं. मोहम्मद आसिफ, सलमान बट, मोहम्मद आमिर पर फिक्सिंग के कारण बैन लगाया था. इसके बाद भी पाकिस्तान से लगातार फिक्सिंग के मामले आते रहते हैं.

भविष्य की चिंता के कारण करते हैं फिक्सिंग
मियांदाद ने कहा कि विदेशी कोचों पर ध्यान दिया जाता है और इसी कारण खिलाड़ियों को अपने भविष्य की चिंता सताती है और वह फिक्सिंग कर बैठते हैं. मियांदाद ने क्रिकेट पाकिस्तान से कहा, “अपने लोगों को देखें, अपने लोगों ने जो क्रिकेट खेली है… ये जो खिलाड़ी खेल रहे हैं. अब ये आज खेल रहे हैं. इनका भविष्य क्या है? उनको भी पता है कि आज मैंने कुछ नहीं किया, तो मैं कल क्या करूंगा? फिक्सिंग इस वजह से हुई थी कि हमारा कोई पता नहीं है, कि कल काट न दे हमको.”

पाकिस्तान के कोचिंग स्टाफ में ऑस्ट्रेलिया के दो पूर्व खिलाड़ी हैं. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन टीम के साथ बतौर सलाहाकर जुड़े हैं. वहीं पू्र्व तेज गेंदबाज शॉन टैट टीम के साथ गेंदबाजी कोच की भूमिका में हैं.