logo

पीएम मोदी को सैल्यूट करते नजर आए जो बाइडेन, कल खुद आगे आकर मिलाया था हाथ

Joe Biden was seen saluting PM Modi, yesterday himself came forward and shook hands

 
Joe Biden was seen saluting PM Modi, yesterday himself came forward and shook hands

Mhara Hariyana News:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी20 शिखर सम्मेलन के लिए इन दिनों इंडोनेशिया के बाली गए हुए हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन समेत कई और देशों के प्रमुख भी इस सम्मेलन में शामिल होने के लिए बाली में हैं. इस बीच बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जो बाइडेन की एक तस्वीर सामने आई है जिसमें बाइडेन पीएम मोदी को सैल्यूट करते नजर आ रहे हैं. इससे पहले मंगलावर को भी दोनों की मुलाकात का एक वीडियो सामने आया था जिसमें जो बाइडेन ने खुद पीएम मोदी की ओर बढ़कर उनसे हाथ मिलाया था. इसके बाद दोनों नेता गले मिलते हुए और खुलकर हंसते हुए भी नजर आए थे.


जी20 शिखर सम्मेलन में पहुंचे दोनों नेताओं की ये मुलाकात कूटनीतिक लिहाज से काफी अहम मानी जा रही है. बुधवार को पीएम मोदी मैंग्रोव वन की यात्रा कर रहे थे. इसी दौरान जो बाइडेन से उनकी मुलाकात हुई. इस दौरान बाइडेन उन्हें सैल्यूट करते भी नजर आए. पीएम मोदी और जो बाइडेन की ये तस्वीरें ऐसे समय में सामने आई है जब रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है. भारत ने लगातार इस जंग को बातचीत के जरिए खत्म करके दोनों देशों के बीच शांति पर जोर दिया है. वहीं दूसरी ओर भारत लगातार रूस से तेल खरीद रहा है जबकि पश्चिमी देशों ने रूस से तेल खरीदना बंद कर दिया है.

भारत को सौंपी गई जी20 की अध्यक्षता
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि भारत की जी-20 की अध्यक्षता समावेशी, महत्वाकांक्षी, निर्णायक और कार्योन्मुखी होगी और देश ऐसे समय में यह जिम्मेदारी संभाल रहा है जब दुनिया भूराजनीतिक तनावों, आर्थिक मंदी एवं बढ़ती ऊर्जा कीमतों से जूझ रही है. जी-20 के बाली में हुए दो दिवसीय सम्मेलन के समापन पर भारत को इस प्रभावशाली समूह की अध्यक्षता सौंपी गई.

इंडोनेशिया की मेजबानी में हुए सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि भारत यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेगा कि जी-20 अगले एक साल में नए विचारों की परिकल्पना के लिए और सामूहिक कार्रवाई में तेजी लाने के लिए एक वैश्विक प्रमुख प्रवर्तक के रूप में काम करे. मोदी ने कहा, भारत ऐसे समय में जी-20 का कामकाज संभाल रहा है जब दुनिया एक साथ भूराजनीतिक तनावों, आर्थिक मंदी, बढ़ती खाद्य एवं ऊर्जा कीमतों के साथ ही महामारी के दीर्घकालिक दुष्प्रभावों से जूझ रही है.

उन्होंने कहा, ऐसे समय में दुनिया जी-20 को उम्मीद के साथ देख रही है. आज, मैं आश्वासन देना चाहता हूं कि भारत की जी-20 की अध्यक्षता समावेशी, महत्वाकांक्षी, निर्णायक और कार्योन्मुखी होगी. भारत एक दिसंबर से आधिकारिक रूप से जी-20 की अध्यक्षता संभालेगा. समूह का राष्ट्र प्रमुख/सरकार प्रमुख स्तर का शिखर-सम्मेलन नयी दिल्ली में अगले साल 9 और 10 सितंबर को आयोजित किया जाएगा.