logo

कू बनी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी माइक्रोब्लॉगिंग साइट

यूजर्स की संख्या 5 करोड़ के पार, 10 भाषाओं में उपलब्ध 
 
 
koo


नई दिल्ली

एलन मस्क के ट्विटर खरीदने के बीच भारतीय माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू (Koo) को फायदा मिलता दिख रहा है। कंपनी के को फाउंडर मयंक बिद्वतका के अनुसार कू अब दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म बन गया है। इसके यूजर्स की संख्या 5 करोड़ (50 मिलियन) के पार निकल गई है।

कू के सीईओ और सह-संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा कि सिर्फ 2.5 सालों के अंदर आज हम दुनिया में दूसरे सबसे बड़े माइक्रो-ब्लॉग हैं। लॉन्च के बाद से हमारे यूजर्स ने हम पर भरोसा किया है।

200 से ज्यादा देशों में यूजर
कंपनी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार फिलहाल कू ऐप भारत के अलावा अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, सिंगापुर, कनाडा, नाइजीरिया, यूएई, अल्जीरिया, नेपाल और ईरान सहित 200 से ज्यादा देशों में उपलब्ध है। कू 10 भाषाओं में उपलब्ध है।

मार्च 2020 में कू हुआ था लॉन्च
कू को मार्च 2020 में देशी माइक्रो-ब्लॉगिंग ऐप के तौर पर लॉन्च किया गया था। कू को इसे बेंगलुरु की बॉम्बीनेट टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने बनाया है। ऐप को भारत के ही अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिद्वतका ने डिजाइन किया है।

ट्विटर टॉप पर
दुनिया में ट्विटर के 22 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं। अमेरिका में 7.6 करोड़ और भारत में इसके 2.3 करोड़ यूजर्स है। दुनियाभर में हर रोज करीब 50 करोड़ ट्वीट किए जाते हैं। ट्विटर को जुलाई 2006 में लॉन्च किया गया था। जैक डॉर्सी, नोआ ग्लास, इवान विलियम्स और बिज स्टोन ने इसकी स्थापना की थी।

मैस्टोडॉन पर भी बढ़ रहे हैं यूजर्स
ट्विटर पर ब्लू सब्सक्रिप्शन के चार्ज करने का फायदा माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट मैस्टोडॉन (Mastodon) को भी हुआ है। मैस्टोडॉन के यूजर्स भी काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। लेकिन, यूजर्स के मामले में वह इन साइट्स से काफी ज्यादा पीछे है। प्ले स्टोर के अनुसार मैस्टोडॉन के अभी 5 लाख ही यूजर हैं।