logo
Kota News: सुनवाई ना होने पर शख्स ने थाने में ही लगा दी आग, फिर एसपी ने लिया ये एक्शन
इस मामले में बीजेपी कार्यकर्ता व गांवडी के निवासी परिजन लगातार आरोपियों कि गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं, लेकिन उनकी अभी भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है.

 
Kota News: सुनवाई ना होने पर शख्स ने थाने में ही लगा दी आग, फिर एसपी ने लिया ये एक्शन

Mhara Hariyana News:

Kota News: कांग्रेस पार्षद (Congress councilor)से परेशान और पुलिस द्वारा सुनवाई नहीं करने के परेशान होकर एक शख्स ने खुद को आग लगा ली थी. वहीं अब इस मामले में पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने नयापुरा थाने के एसएचओ भूपेंद्र सिंह (SHO Bhupendra Singh)और एएसआई बच्चन सिंह (ASI Bachchan Singh) को लाइन हाजिर कर दिया है. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी कार्यकर्ता द्वारा नयापुरा थाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए पार्षद की गिरफ्तारी की मांग की है. सुबह से ही बीजेपी कार्यकर्ता नयापुरा थाने पर जमा हो गए और पार्षद की गिरफ्तारी की मांग करने लगे. उन्होंने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कांग्रेस पार्षद हरिओम सुमन का पुतला जलाया.

नयापुरा थाने पर भारी पुलिस बल तैनात (Heavy police force deployed at Nayapura police station)
वहीं कोटा में ये मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में बीजेपी कार्यकर्ता व गांवडी के निवासी परिजन लगातार आरोपियों कि गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं, लेकिन उनकी अभी भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है. शहर में लगातार आक्रोश व्याप्त होता जा रहा है. स्थिति को देखते हुए नयापुरा थाने पर भारी पुलिस जाप्ता तैनात किया गया है.

सोशल मीडिया पर किया था कमेंट (commented on social media)

नयापुरा थाना क्षेत्र के खंड गांवडी निवासी राधेश्याम मीणा का अपने ही वार्ड के पार्षद हरि सुमन से विवाद चल रहा था. यह विवाद 5 सितंबर से पहले शुरू हुआ था. राधेश्याम (Radheshyam)के दो बच्चे हैं. बड़ी बेटी 13 साल व बेटा 10 साल का है. परिजनों ने बताया उसकी बेटी सिविल लाइन के खंड गांवड़ी सरकारी स्कूल में पढ़ती है. स्कूल की ओर से एक कॉम्पिटिशन एग्जाम(competition exam) होना था. बेटी के स्कूल में कोई डॉक्युमेंट चाहिए था तो राधेश्याम ने मदद के लिए वार्ड के वॉट्सऐप ग्रुप पर पार्षद के लिए केवल एक मैसेज डाला जो इतना भारी पडा कि उसकी जान पर बन आई. यहीं से पार्षद-राधेश्याम के बीच विवाद हो गया. गुस्साए पार्षद ने राधेश्याम मीणा के घर जाकर उसकी जमकर पिटाई कर दी. 

डिप्रेशन में आकर उठाया कदम (Step taken in depression)
राधेश्याम ने इसकी शिकायत नयापुरा थाने में कर दी, लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई. पार्षद कांग्रेस का होने से युवक की सुनवाई नहीं हो रही थी. शुक्रवार को भी पार्षद व उसके साथियों ने उस पर अभद्र भाषा का प्रयोग किया (used abusive language)और बार-बार परेशान कर रहे थे, जिस कारण वह इतना डिप्रेशन में आ गया कि उसने थाने के अंदर जाकर आग लगा ली, पीड़ित को उपचार के लिए जयपुर रैफर कर दिया है.