logo
NIA-ED Raids: एनआईए-ईडी की जांच का दायरा कनाडा-पाकिस्तान की ओर बढ़ना तय!
गिरफ्तार लोगों में सबसे बड़ा नाम अभी तक दिल्ली में गिरफ्तार परवेज अहमद है, जो दिल्ली क्षेत्र का पीएफआई का "बॉस" माना जा रहा है.
 
NIA-ED Raids

Mhara Hariyana News:

गुरुवार को हिंदुस्तान की केंद्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए-ईडी द्वारा पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) के अड्डों पर की गई सामूहिक छापामारी ने कोहराम मचा दिया. खबर लिखे जाने तक इस बड़े एक्शन में पीएफआई से जुड़े 145 से ज्यादा संदिग्ध हिरासत में ले लिए गए हैं. गिरफ्तार लोगों में सबसे बड़ा नाम अभी तक दिल्ली में गिरफ्तार परवेज अहमद है, जो दिल्ली क्षेत्र का पीएफआई का “बॉस” माना जा रहा है. 11 राज्यों में एनआईए की यह छापामारी गुरुवार दोपहर बाद खबर लिखे जाने तक जारी है.

पूरे होमवर्क के बाद जांच एजेंसियों की छापेमारी
पीएफआई और देश से बाहर बैठी भारत विरोधी ताकतें, हिंदुस्तान को कमजोर करने के लिए एक साथ मिलकर नाकाम कोशिश कर रही हैं, जिसे हर हाल में वक्त रहते नेस्तनाबूद करना जरुरी था. लिहाजा जैसे ही केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और खुद से जुटाए गए “इनपुट” से एनआईए और ईडी मुतमइन हो गईं, तो उन्होंने अपना “होमवर्क” केंद्रीय हुकूमत के हवाले कर दिया.

उसके बाद केंद्रीय हुकूमत (विशेष कर केंद्रीय गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार का कार्यालय) को एजेंसियों के उस होमवर्क में जहां-जहां भी छेद नजर आए, उन्हें संबंधित एजेंसियों (ईडी और एनआईए) ने कुछ और वक्त मांगकर बंद कर दिया. इसके बाद तय हुआ कि अब देश भर में उस पीएफआई के अड्डों पर एनआईए और ईडी संयुक्त रुप से छापामारी करेंगी, जिन पर स्थानीय (राज्य पुलिस) पुलिस कभी हाथ ही नहीं डाल पाती थी.