logo
Queen Elizabeth II Funeral: जहां दफन होते हैं शाही फैमिली के लोग, उस रॉयल वॉल्ट का क्या है राज
Queen Elizabeth II Burial: ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पार्थिव शरीर को विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में बने रॉयल वॉल्ट में दफनाया जाएगा. क्या है रॉयल वॉल्ट का राज, आइये जानते हैं.
 
Queen Elizabeth II Burial: ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पार्थिव शरीर को विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में बने रॉयल वॉल्ट में दफनाया जाएगा. क्या है रॉयल वॉल्ट का राज, आइये जानते हैं.

Mhara Hariyana News: Queen Elizabeth II To Be Buried in Royal Vault: ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का आज अंतिम संस्कार (Queen Elizabeth II Funeral) किया जाएगा. महारानी के पार्थिव शरीर को रॉयल वॉल्ट (Royal Vault) में दफनाया जाएगा. अंग्रेजी में रॉयल वॉल्ट का मतलब शाही तिजोरी होता है. 

ब्रिटेन (Britain) में शाही परिवार (Royal Family) के मृतकों को इसी जगह दफनाने की परंपरा है. महारानी के पति ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग (Duke of Edinburgh) प्रिंस फिलिप (Prince Philip) को भी इसी रॉयल वॉल्ट में दफन किया गया था. रॉयल वॉल्ट में शाही परिवार के दो दर्जन से ज्यादा लोगों के शव दफन किए जा चुके हैं. 

रॉयल वॉल्ट में अपने पति के पास रहेंगी महारानी

महारानी के अंतिम संस्कार की योजना को ऑपरेशन लंदन ब्रिज कोड नाम दिया गया है. इसके अनुसार, महारानी का पार्थिव शरीर विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में दफनाया जाएगा. शव को विंडसर में किंग जॉर्ज VI मेमोरियल चैपल में रखा जाएगा, जहां महारानी अपने पति ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग के साथ रहेंगी. प्रिंस फिलिप वर्तमान में रॉयल वॉल्ट में हैं. प्रिंस फिलिप को महारानी के पास ले जाया जाएगा.


यह चैपल महारानी के पिता किंग जॉर्ज VI, दिवंगत महारानी मां और बहन राजकुमारी मार्गरेट का भी अंतिम विश्राम स्थल है. सेंट जॉर्ज चैपल की स्थापना 1475 में किंग एडवर्ड III द्वारा की गई थी और तब से यह कई शाही समारोहों के केंद्र में रहा है. 

आखिरी बार इस शाही हस्ती का यहां हुआ था अंतिम संस्कार

आधिकारिक तौर पर यह चैपल 19वीं शताब्दी में शाही परिवार के लिए दफन स्थल बना था. चैपल के जिस हिस्से में महारानी एलिजाबेथ द्वितीयी के पार्थिव शरीर को दफनाया जाएगा, उसका निर्माण 1969 में किया गया था. इस चैपल में खुशी के कार्यक्रम जैसे कि शाही परिवार की शादियां आदि भी आयोजित किए जाते हैं.

आखिरी बार इस चैपल में फ्रिंस फिलिप की मां राजकुमारी एलिस के पार्थिव शरीर को 1969 में दफनाया गया था. बाद में उनके पार्थिव शरीर को यरुशलम में स्थानांतरित कर दिया गया था. 

क्या है रॉयल वॉल्ट?

विंडसर कैसल के सेंट जॉर्ज चैपल में ही कई अलग-अलग दफन स्थान बने हैं, रॉयल वॉल्ट भी उन्हीं में से एक है. यह स्थान 15वीं शताब्दी का है. यह सेंट जॉर्ज चैपल के नीचे 16 फीट की दूरी पर बना एक दफन कक्ष है. 1804 में किंग जॉर्ज III ने इसकी खुदाई और निर्माण का आदेश दिया था. इसका निर्माण 1810 में पूरा हुआ था. इसे शाही परिवार के सदस्यों के लिए अंतिम विश्राम स्थल के रूप में डिजाइन किया गया था.

रॉयल वॉल्ट 70 फीट लंबा और 28 फीट चौड़ा पत्थर से बना कक्ष है. इसका प्रवेश द्वार लोहे के गेट से बंद रहता है. रॉयल वॉल्ट में 44 शव रखने के लिए पर्याप्त जगह है. इसमें पत्थर की दीवारों में बनी अलमारियों पर 32 ताबूतों को रखने की व्यवस्था है जबकि बाकी 12 की व्यवस्था रॉयल वॉल्ट के सेंटर में की गई है. अभी तक शाही परिवार के 25 सदस्य इस जगह दफन किए जा चुके हैं. 

जॉर्ज III पहले ब्रिटिश महाराजा थे जिन्हें फरवरी 1820 में उनके अंतिम संस्कार के बाद रॉयल वॉल्ट में रखा गया था. हालांकि, रॉयल वॉल्ट में पहले सदस्य के रूप में जॉर्ज III की बेटी, राजकुमारी अमेलिया को रखा गया था, जिनकी मृत्यु 27 वर्ष की उम्र में नवंबर 1810 में हो गई थी.