logo
क्वीन एलिजाबेथ-II के अंतिम दर्शन को 30 घंटे करना पड़ेगा इंतजार
जहां क्वीन का ताबूत रखा जाएगा उस वेस्टमिंस्टर एब्बे हॉल के बाहर 5 किमी लंबी कतार
 
queen



Mhara Hariyana News, London। 

क्वीन एलिजाबेथ-II के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का लंदन पहुंचने का सिलसिला जारी है। 19 सितंबर तक शहर के फुल होने के अनुमान हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि एलिजाबेथ के फ्यूनल में देश-दुनिया से 10 लाख से ज्यादा लोग जुटेंगे। कहा जा रहा है कि अंतिम दर्शन के लिए लोगों को 30 घंटे तक इंतजार करना पड़ सकता है। उधर, स्कॉटलैंड में क्वीन की अंतिम यात्रा निकाली गई। बड़ी संख्या में लोग सड़क के किनारे क्वीन को अंतिम विदाई देने के लिए जमा हुए। वहीं, किंग चार्ल्स king Charles के साथ शाही परिवार के सदस्य रानी के ताबूत के पीछे चलते दिखे।

लंदन के वेस्टमिंस्टर हॉल Westminster Hall  में रखा जाएगा क्वीन का पार्थिव शरीर
लंदन में वेस्टमिंस्टर हॉल Westminster Hall  बुधवार को शाम 5 बजे से अगले सोमवार सुबह 6.30 बजे तक खुला रहेगा। अंतिम संस्कार के दिन लोगों के लिए रानी के दर्शन के लिए तीन मील ( 5 किमी) लंबी कतार में इंतजार करना पड़ सकता है।


4 दिन तक आम लोग क्वीन QUEEN ELIZABETH II  को दे सकेंगे श्रद्धांजलि
क्वीन एलिजाबेथ का पार्थिव शरीर बुधवार को लंदन के वेस्टमिंस्टर हॉल पहुंचेगा। आम लोग यहां चार दिन तक महारानी के अंतिम दर्शन कर श्रद्धांजलि दे सकेंगे। इसके लिए जगह-जगह पोर्टेबल टॉयलेट, बैरियर और अन्य जरूरी चीजों का इंतजाम किया गया है। कुछ प्रशंसकों ने तो अभी से अपनी जगह रिजर्व कर ली है।


वेस्टमिंस्टर एब्बे हॉल बुधवार शाम 5 बजे से अगले सोमवार सुबह 6:30 बजे तक दिन और रात आम लोगों के लिए खुला रहेगा। कहा जा रहा है कि क्वीन के अंतिम दर्शन के दौरान भारी संख्या में लोगों के मौजूद रहने का अनुमान है। वहीं, खराब मौसम के चलते लोगों को अंतिम दर्शन झलक पाने से वंचित रह सकते हैं।


8 सितंबर को हुआ था निधन
महारानी QUEEN ELIZABETH II ने 8 सितंबर की देर रात अंतिम सांस ली थी। क्वीन एलिजाबेथ का अंतिम संस्कार शाही परंपरा के मुताबिक, 10वें दिन यानी 19 सितंबर को होगा। फिलहाल उनके अंतिम संस्कार से जुड़ी परंपराएं चल रही हैं। क्वीन एलिजाबेथ का पार्थिव शरीर स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल से लंदन के बकिंघम पैलेस लाया गया।


11 सितंबर शाम करीब 4 बजे क्वीन का शव स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग स्थित होलीरूडहाउस पैलेस पहुंचा। सोमवार यानी 12 सितंबर को एक जुलूस में क्वीन के पार्थिव शरीर को स्कॉटलैंड के सेंट जाइल्स कैथेड्रल ले जाया गया। इस जुलूस में किंग चार्ल्स के साथ शाही परिवार के सदस्य रानी के ताबूत के पीछे चलते दिखे। अधिकारियों ने बताया कि क्वीन के ताबूत को कड़ी सुरक्षा के बीच होलीरूडहाउस पैलेस पहुंचाया गया। परंपरा के अनुसार जुलूस के दौरान शाही परिवार के सदस्य क्वीन के ताबूत की चौकसी की।


ताबूत पर रखा गया स्कॉटलैंड का क्राउन
इस दौरान किसी को भी तस्वीर खीचनें या वीडियो बनाने की अनुमति नहीं थी। सेंट जाइल्स कैथेड्रल में पहुंचने पर स्कॉटलैंड के क्राउन को उनके ताबूत पर रखा गया है। यहां क्वीन का ताबूत बुधवार शाम 5 बजे तक रहेगा।

क्वीन QUEEN ELIZABETH II  की अंतिम यात्रा में उनके ताबूत को देखने के लिए सड़कों के किनारे बड़ी संख्या में लोग नजर आए, इस दौरान तस्वीरें खींचने और वीडियो बनाने पर प्रतिबंध था। फिर भी लोग तस्वीरें खींचते नजर आए।
क्वीन की अंतिम यात्रा में उनके ताबूत को देखने के लिए सड़कों के किनारे बड़ी संख्या में लोग नजर आए, इस दौरान तस्वीरें खींचने और वीडियो बनाने पर प्रतिबंध था। फिर भी लोग तस्वीरें खींचते नजर आए।

19 सितंबर को होगा अंतिम संस्कार
क्वीन एलिजाबेथ QUEEN ELIZABETH II  का अंतिम संस्कार सोमवार 19 सितंबर को होगा। उनकी अंतिम यात्रा चार दिन बाद लंदन के वेस्टमिंस्टर एब्बे में जाकर भव्य राजकीय अंतिम संस्कार पर खत्म होगी। आखिरी बार ब्रिटेन में 1965 में सर विंस्टन चर्चिल का राजकीय अंतिम संस्‍कार किया गया था।