logo

‘लव जिहाद से त्रस्त राजस्थान’ पूनिया बोले- श्रद्धा हत्याकांड पर CM का बयान तुष्टिकरण की पराकाष्ठा

'Rajasthan plagued by love jihad' Poonia said - CM's statement on Shraddha murder case the culmination of appeasement

 
'Rajasthan plagued by love jihad' Poonia said - CM's statement on Shraddha murder case the culmination of appeasement

Mhara Hariyana News:

राजस्थान में पिछले कुछ समय से हो रहे पुजारियों पर हमले और धर्म परिवर्तन की घटनाओं पर बीजेपी अब गहलोत सरकार पर हमलावर हो गई है. प्रदेश में कांग्रेस सरकार की चौथी सालगिरह से पहले बीजेपी हिन्दुओं के साथ हो रही घटनाओं को मुद्दा बनाते हुए अशोत गहलोत पर हमलावर हैं. राजसमंद के देवगढ़ में पुजारी को जिन्दा जलाने के मामले में बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने मंगलवार को कहा कि यह घटना सीएम और गृहमंत्री पर सवाल खड़े करती है. वहीं दिल्ली में हुए श्रद्धा हत्याकांड में गहलोत के बयान को पूनिया ने तुष्टिकरण की पराकाष्ठा बताया. पूनिया ने कहा राजस्थान में माफिया और बदमाशों का आतंक है लेकिन मुख्यमंत्री ने आंखें मूंद रखी हैं.


पूनिया ने कहा कि कांग्रेस भारत जोड़ने की बात कर रही है लेकिन अपनी कुर्सी को बचाए रखने के लिए सारी बातों को ताक पर रखा जा रहा है और आम जनता की जान बचाने में सीएम की कोई रुचि नहीं है.

राजस्थान में चल रहा जंगलराज
पूनिया ने मीडिया से बात करते हुए आगे कहा कि राजसमंद के देवगढ़ के हीरा गांव में पुजारी दंपती को जिंदा जलाया जाना पहली घटना नहीं है, इससे पहले भी पुजारियों पर हमले होते रहे हैं जो सीधे-सीधे राजस्थान पुलिस के इकबाल से जुड़ी घटनाएं हैं. वह बोले कि राजस्थान में लोग सड़क से लेकर घरों और मंदिरों में कहीं पर भी सुरक्षित नहीं है.

वहीं उन्होंने आरोप लगाए कि कांग्रेस शासन में अपराध की घटनाएं पीक पर हैं और महंत विजय दास की घटना, जयपुर के मुरलीपुरा में घटना और राजसमंद के देवगढ़ की इस घटना ने मन फिर उद्वेलित हो गया है लेकिन राज्य सरकार का कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने का कोई कमिटमेंट दिखाई नहीं देता है. वहीं प्रदेश में दिनदहाड़े डकैती, हत्याएं और लूटपाट हो रही है.

धर्मांतरण से ग्रसित राजस्थान
वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ने दिल्ली के श्रद्धा हत्याकांड पर गहलोत के बयान पर कहा कि मुझे अफसोस हुआ कि तुष्टिकरण की राजनीति की इससे ज्यादा क्या पराकाष्ठा हो सकती है कि इस वीभत्स हत्याकांड को एक सामान्य घटना करार दिया जाए. पूनिया ने कहा कि सीएम गहलोत के तर्क को कुतर्क कहा जा सकता है और ये घटना एक मानसिकता और विचार की लड़ाई है जहां पूरे देश में लव जिहाद और धर्मांतरण से सबसे ज्यादा प्रभावित राजस्थान है.