logo
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS कांड पर SSP का बड़ा दावा, छात्राओं के वायरल वीडियो को लेकर कही ये बात
Chandigarh University के वायरल वीडियो मामले में मोहाली के SSP ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने छात्राओं के वीडियो को लेकर कहा है कि जांच जारी है.
 
Chandigarh University के वायरल वीडियो मामले में मोहाली के SSP ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने छात्राओं के वीडियो को लेकर कहा है कि जांच जारी है.

Mhara Hariyana News, Mohali News: पंजाब स्थित मोहाली में चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में छात्राओं का कथित आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने के मामले में एसएसपी मोहाली ने बड़ा दावा किया है.उन्होंने कहा है कि अभी तक सिर्फ एक ही वीडियो सामने आया है जो आरोपी का ही है.इसके अलावा और कोई वीडियो अभी तक की जांच में सामने नहीं आया है.

SSP विवेक शील सोनी ने एक प्रेस वार्ता में कहा- इस मामले में कहा जा रहा है कि वायरल वीडियो के अलावा और भी कुछ वीडियो बनाए गए हैं, ये बात सरासर गलत है. हमारी जांच में ऐसा कोई दूसरा वीडियो सामने नहीं आया है. हमारी तरफ से FIR दर्ज़ कर ली गई है, एक छात्रा को हमने गिरफ़्तार भी कर लिया है.


मोहाली में छात्राओं का वीडियो वायरल होने के मामले में राघव चड्ढा बोले- पंजाब सरकार दोषियों को दिलाएगी सजा


आत्महत्या के दावों पर बोले SSP
SSP ने कहा- अब हम मामले में विस्तृत जांच कर रहे हैं. हमारे पास जो भी जानकारी और वीडियो है उसकी फॉरेंसिक जांच करवा रहे हैं. हमने अभी तक जो जांच की है उसमें यह बात साफ आती है कि जो वीडियो है वो उसकी खुद की है, उसके अलावा किसी और की कोई वीडियो नहीं है.

उन्होंने कहा- अभी तक की जांच में हमें पता चला है कि आरोपी का सिर्फ एक ही वीडियो है. उसने किसी और का कोई अन्य वीडियो रिकॉर्ड नहीं किया है. इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और मोबाइल फोन को  कस्टडी में ले लिया गया है और फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा.

SSP ने कहा- कोई आत्महत्या की कोशिश नहीं की गई या मौत नहीं हुई है. एम्बुलेंस में ले जाया गया एक छात्रा परेशान थी और हमारी टीम उसके संपर्क में है. एक छात्र के वीडियो के अलावा और कोई वीडियो हमारे संज्ञान में नहीं आया है.

इसके अलावा वार्डन के वीडियो पर SSP ने कहा-  जो वार्डन की वीडियो है , उसमे वार्डन उनसे जानकारी निकालने के लिए पूछ रही है की और भी किसी की वीडियो तो नहीं बनायी है.  हम भी फॉरेंसिक जांच करवा रहे है , और कोई वीडियो नहीं है. अफवाह फ़ैल रही है.  मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. फोन को कस्टडी ने लेकर फॉरेंसिक जांच में भेज दिया गया.