logo

देश को महंगाई के मोर्चे पर मिलेगी राहत, RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताई वजह

The country will get relief on the inflation front, RBI Governor Shaktikanta Das gave the reason

 
The country will get relief on the inflation front, RBI Governor Shaktikanta Das gave the reason

Mhara Hariyana News:

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर Shaktikanta Das ने शनिवार को कहा कि अक्टूबर के लिए महंगाई का आंकड़ा 7 फीसदी से कम रहने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि दो से छह फीसदी के महंगाई के लक्ष्य को बदलने की कोई जरूरत नहीं है. हालांकि, इसे बदलने पर काफी बहस है. केंद्रीय बैंक के गवर्नर ने कहा कि भारत के कुल माइक्रो इकोनॉमिक फंडामेंटल्स वैश्विक उतार-चढ़ाव के बीच मजबूत बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि दोनों सरकार और Reserve Bank महंगाई की चुनौती से प्रभावी तरीके के साथ निपट रहे हैं.


इस साल 7% रहेगी देश की आर्थिक ग्रोथ: गवर्नर दास
देश की आर्थिक ग्रोथ पर बोलते हुए दास ने कहा कि घरेलू अर्थव्यवस्था मजबूत बनी हुई है और केंद्रीय बैंक का अनुमान है कि इस साल भारत की आर्थिक ग्रोथ सात फीसदी रहेगी. दास ने यह भी कहा कि बैंकिंग सेक्टर स्थिर बना हुआ है. उन्होंने बताया कि वर्तमान हालात में ग्रोथ के आंकड़े अच्छे दिख रहे हैं. उनका अनुमान है कि इस सात भारत करीब सात फीसदी की दर से ग्रोथ करेगा.

आरबीआई गवर्नर ने आगे कहा कि आईएमएफ ने अनुमान जताया है कि भारत मौजूदा साल में करीब 6.8 फीसदी की दर से बढ़ेगा. और यह भारत को दुनिया में सबसे तेजी के ग्रोथ करती बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच लाकर रखता है. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया ने कोविड-19 महामारी, यूक्रेन में युद्ध और अब वित्तीय बाजार में उतार-चढ़ाव के तीन बड़े झटकों को झेला है और इसके बचे असर उभरती अर्थव्यवस्थाओं जैसे भारत द्वारा महसूस किए जा रहे हैं.

RBI गवर्नर ने भारत की स्थिति को दूसरे देशों से बताया बेहतर
दास ने बोलते हुए यह भी कहा कि पूरा यूरोपीय यूनियन आज मंदी की कगार पर खड़ा है. उन्होंने कहा कि अमेरिका अभी स्थिर बना हुआ है. दूसरे देशों की ग्रोथ भी धीमी पड़ी है. आरबीआई गवर्नर के मुताबिक, हालांकि, जहां तक भारत की बात है, माइक्रो इकोनॉमिक फंडामेंटल्स, वित्तीय क्षेत्र की स्थिरता, ये सभी चीजें मजबूत बनी हुईं हैं.