logo

सोनू मौत मामले में बड़ा खुलासा, दो दिन पहले सिरसा की रेलवे कालोनी में मिला था अधजला शव

 
s
WhatsApp Group Join Now

सिरसा । दो दिन पहले रेलवे स्टेशन के निकट अधजली अवस्था में मिले युवक सोनू के शव मामले में सिरसा पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस का दावा है कि सोनू ने आत्महत्या की है। उसके बैग में से सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उसने लिखा है कि परिवार में सम्मान न मिलने के कारण उसने यह कदम उठाया है। 
उसने सुसाइड नोट में लिखा कि उसके बैग में सात-आठ हजार रुपये है जो उसकी बहन को दे देना। उसकी बहन की शादी कर देना। उसने अपनी बहन से सॉरी भी मांगी है।
 विस्तृत जानकारी देते हुए डीएसपी जगत सिंह मोर ने बताया कि मृतक सोनू के पिता ने भी आत्महत्या की थी तथा सोनू वर्तमान में अपने रिश्तेदार के पास गांव कुस्सर में रहता था। सोनू चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय में अप्रेटिंस पर लगा हुआ था। वर्णनीय है कि बुधवार को पुलिस ने रेलवे कालोनी क्षेत्र में अधजली अवस्था में एक शव बरामद किया था। जिसकी पहचान ढिंगसरा निवासी 22 वर्षीय सोनू के रूप में हुई थी। इस मामले में सोनू के ताऊ सुभाष के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज किया था। 
ये था मामला
सिरसा की रेलवे कालोनी में रेलवे सुरक्षा बल के बैरिक के ठीक पीछे पुलिस एक युवक का जली अवस्था में शव बरामद किया। जिसकी पहचान छिपाने के लिए आग लगाने का अंदेशा है। सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची और साक्ष्य जुटाने की कोशिश की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त के लिए राजकीय अस्पताल पहुंचाया।  कोर्ट कालोनी रेलवे फाटक से सेंट जेवियर स्कूल को जाने वाले रास्ते के किनारे आज सुबह लोगों ने एक जली अवस्था में युवक का शव देखा। शव के आसपास कचरा जला हुआ था। मर्डर के बाद शव की पहचान छिपाने के इस कृत्य को लेकर लोगों में सनसनी फैल गई। 
इस बारे में सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची।  दरअसल, रेलवे स्टेशन के ठीक सामने रेलवे सुरक्षा बल का बैरक है, जहां आरपीएफ के जवान रहते है। इसके ठीक पीछे वाले मार्ग पर शव को जलाया गया है। ऐसा प्रतीत होता है कि मर्डर के बाद शव को कचरे में जलाया गया, ताकि उसकी शिनाख्त न हो सकें। मगर, मृतक की शिनाख्त सोनू (22 वर्ष) के रूप में की गई है, जोकि सीडीएलयू में कार्यरत बताया जाता है। मृतक के ताऊ सुभाष निवासी गांव कुस्सर ने बताया कि उसके छोटे भाई का कई वर्ष पहले निधन हो गया था। सोनू को बचपन से उन्होंने ही पाला। वह सीडीएलयू में काम करता था। उनकी किसी से दुश्मनी भी नहीं थी।   पूरे मामले में पुलिस द्वारा विभिन्न एंगल से जांच की जा रही है।