logo

गुरुग्रंथ साहब बेअदबी मामले में डेरा सच्चा सौदा पर लगे आरोपों पर डेरा प्रवक्ता का बड़ा बयान

कहा डेरा सच्चा सौदा व पूज्य गुरु जी द्वारा हमेशा से सभी धर्मों का सम्मान किया गया है। इस तरह के झूठे बयान पहली बार नहीं करवाए गए।
 
े
WhatsApp Group Join Now
सिरसा। गुरुग्रंथ साहब की बेअदबी मामले में डेरा प्रमुख व उनकी पुत्री को मुख्य साजिशकर्ता होने के दावों को डेरा सच्चा सौदा ने सिरे से खारिज किया है। डेरा प्रवक्ता जितेंद्र खुराना एडवोकेट ने मीडिया को जारी किए बयान में कहा कि अगर प्रदीप कलेर नाम के व्यक्ति द्वारा ऐसे बयान जैसे की मीडिया में बताया जा रहा है, दिये गए है तो ये बिलकुल पूरी तरह से झूठे व निराधार है और किसी साजिश के तहत ऐसा किया जा रहा है। 
डेरा प्रवक्ता ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के फॉलोवर, पूज्य गुरु जी, बहन हनीप्रीत इन्सां और डेरा मैनेजमेंट के किसी भी सदस्य का सत्कार योग पवित्र श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी करवाने में किसी प्रकार का कोई हाथ नहीं है। डेरा सच्चा सौदा व पूज्य गुरु जी द्वारा हमेशा से सभी धर्मों का सम्मान किया गया है। इस तरह के झूठे बयान पहली बार नहीं करवाए गए। 
डेरा प्रवक्ता ने कहा कि इससे पहले भी महेंद्र पाल बिट्टू के 164 के बयान भी एसआईटी द्वारा करवाए गए थे जो की सीबीआई इंवेस्टिगेशन में बिलकुल झूठे साबित हुए हैं। सीबीआई ने जब इस केस की पूरी गहनता व पूर्णत: साइंटिफिक इन्वेस्टिगेशन 4 वर्षों तक जिसमें हैंडराइटिंग एक्सपर्ट, पॉलीग्राफी टेस्ट, डंप डाटा, मोबाइल सीडीआर, ईटीसी व अन्य सभी तथ्यों की जांच करके इस केस को कैंसल करके क्लोजर रिपोर्ट मोहाली सीबीआई कोर्ट में दायर करते हुए ये कहा था कि इस केस में डेरा सच्चा सौदा के किसी भी सदस्य व पूज्य गुरु जी का किसी प्रकार का हाथ नहीं है। सीबीआई ने यह भी स्पष्ट किया कि 164 के झूठे बयान बिट्टू को टॉर्चर करके बुलवाए गए। जैसे ही सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट आने का एसआईटी को पता चला तो एसआईटी ने ये इंवेस्टिगेशन सीबीआई से वापिस ले ली जो कि नहीं ली जा सकती थी। इसी इशू को लेकर पूज्य गुरु जी द्वारा माननीय हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई। जिस पर कोर्ट ने सुनवाई करते हुए इन केसों की प्रोसिडिंग पर स्टे लगा दिया हैं।