logo

Firozabad ka New Name: यूपी के इस जिले का नाम बदलने की तैयारी, ये होगा नया Name

फिरोजाबाद (Firozabad) नगर निगम की मेयर कामिनी राठौर ने बताया, प्राचीन काल में फिरोजाबाद को चंद्रावर के नाम से जाना जाता था.
 
Firozabad ka New Name: यूपी के इस जिले का नाम बदलने की तैयारी, ये होगा नया Name
WhatsApp Group Join Now

New Delhi वर्षों पुरानी सांस्कृतिक गुलामी की जंजीरें तोड़ भारत अब अपने पुराने गौरव को हासिल करने की राह पर चल पड़ा है. यूपी में इसकी बानगी देखी जा सकती है.

इलाहाबाद और मुगलसराय का नाम बदलने के बाद अब एक और बड़े जिले फिरोजाबाद का नाम बदलने की तैयारी है. इसके लिए जिले के नगर निगम ने प्रस्ताव पास कर दिया है, जिसे अब मंजूरी के लिए यूपी सरकार को भेजा जाएगा. वहां से मंजूरी मिलने के बाद इस जिले का विदेशी दासता का अहसास कराने वाला नाम बदल दिया जाएगा. 

सबकी सहमति से पास हुआ प्रस्ताव
फिरोजाबाद (Firozabad) नगर निगम की मेयर कामिनी राठौर ने बताया, प्राचीन काल में फिरोजाबाद को चंद्रावर के नाम से जाना जाता था. जिसे अकबर ने बदलवा दिया. अब हम अपने जिले को पुराना गौरवशाली नाम वापस दिलवाने की कोशिश कर रहे हैं.

यह कोई नया नाम नहीं है. इस संबंध में निगम में प्रस्ताव भेजा गया था, जिसे सबकी सहमति से पास कर चंद्र नगर (Chandra Nagar) कर दिया गया है.

प्राचीन नाम था चंद्रावर

बताते चलें कि दिल्ली से करीब 250 किमी दूर बसा फिरोजाबाद (Firozabad) अपनी चूडियों के निर्माण उद्योग की वजह से प्रसिद्ध है. इस जिले में शिकोहाबाद, टुंडला और सिरसागंज जैसे बड़े कस्बे आते हैं. यहां के ज्यादातार कांच से जुड़े काम-धंधे में लगे हैं.


इतिहासकारों के मुताबिक इस जिले का प्राचीन नाम चंद्रावर था. यह नाम उस वक्त शासक रहे राजा चंद्रसेन के नाम पर पड़ा था. राजा चन्द्रसेन और मुहम्मद ग़ोरी के बीच 1194 ई. में बड़ी जंग हुई थी, जिसमें राजा चन्द्रसेन को हार झेलनी पड़ी थी. आज भी फिरोजाबाद में यमुना नदी के के किनारे चंद्रावर (Chandravar) नगर बसा हुआ है, जो देखरेख के अभाव में खंडहर हालत में पहुंच चुका है. 

कैसे पड़ा फिरोजाबाद नाम?

चंद्रावर जिले (Chandravar) का नाम मुगल बादशाह अकबर के शासनकाल में बदला गया था. उस दौरान अकबर ने अपने मनसबदार फिरोज शाह को चंद्रावर पर कब्जा करने के लिए भेजा गया था. फिरोजशाह ने अपने मुगल सैनिकों के साथ चंद्रावर में जबरदस्त मारकाट मचाई.


इतिहासकार कहते हैं कि उस दौरान सैकड़ों हिंदुओं की हत्या कर उनके परिवारों को जबरन धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया गया. इसके साथ ही जिले में मौजूद मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया गया. फिरोजशाह के इस अभियान से खुश होकर अकबर ने चंद्रावर का नाम फिरोजाबाद कर दिया था. 

इससे पहले भी बदले जा चुके हैं नाम

बताते चलें कि यूपी की योगी सरकार इससे पहले इलाहाबाद जिले का नाम बदलकर प्रयागराज और मुगलसराय का नाम परिवर्तिन करके दीनदयाल उपाध्याय नगर कर चुकी हैं. पिछले दिनों अलीगढ़ से भी खबर आई थी कि वहां के नगर निगम ने जिले का नाम हरीगढ़ करने का प्रस्ताव सरकार को भेजा है.