logo

गौमाता भी गंगा समान है, सेवा का प्रतिफल अवश्य लौटाती है: नित्यानंद गिरी

 
गौमाता भी गंगा समान है, सेवा का प्रतिफल अवश्य लौटाती है: नित्यानंद गिरी
WhatsApp Group Join Now
सिरसा क्षेत्र के गांव फूलकां में स्थित श्री स्वामी लक्ष्येश्वर आश्रम गऊ सेवा सदन में साप्ताहिक श्रीबह्म पुराण कथा का शुभारंभ हुआ।
कथाव्यास पीठासीन स्वामी सदाशिव नित्यानंद गिरी महाराज (कैलाश आश्रम ऋषिकेश) ने कथा के पहले दिन गौभक्तों व ग्रामीणों को सामाजिक जीवन से जुड़ी कई रोचक बातें समझाई और उन्हें अपनी दिनचर्या में उनको अपनाने का आह्वान भी किया। उधर कथा श्रवण करने पहुंची नेत्री सुनीता सेतिया ने गौशाला को ग्यारह हजार रूपये की राशि दान की। सेतिया ने कहा कि मैं खुद को सौभाग्यशाली मानती हूं जो मुझे आज गौशाला में आकर सत्संग सुनने का अवसर मिला।
 कथा दौरान नित्यानंद गिरी ने गऊ पूजा का महत्व समझाते हुए कहा कि गौमाता भी गंगा के समान है, गौमाता सेवा का प्रतिफल अवश्य लौटाती है। इसलिए गौसेवा में बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए, खासकर महिलाओं को गौसेवा के लिए समय निश्चित करना चाहिए। 
उन्होंने कहा कि इस सेवा कार्य में भले ही कोई व्यक्ति थोड़ा समय भी लगाता है तो वह भी उत्तम सेवा है। लेकिन आजकल लोग सेवा करने वालों से ईष्र्या भाव रखते हैं, कहते हैंकि यह बना फिरता है बड़ा भक्त, लेकिन लोगों को ऐसी सोच नहीं बनानी चाहिए, अपितु दूसरों को सेवा कार्य के प्रोत्साहित करना चाहिए। कथा दौरान फूलकां गांव के अलावा बाजेकां, अलीमोहम्मद, चाडीवाल, कंवरपुरा, नेजियाखेड़ा आदि गांवों से भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे। गौशाला के प्रधान रविंद्र कुलडिय़ा ने बताया कि 16 मार्च तक सत्संग का आयोजन किया जाएगा।