logo

हाय सर्दी! दिल्ली की 2 साल में सबसे ठंडी सुबह, पारा 2.2 डिग्री तक गिरा- कोहरे की चादर लिपटा उत्तर भारत

hi winter! Delhi's coldest morning in 2 years, mercury drops to 2.2 degrees - fog blankets North India

 
हाय सर्दी! दिल्ली की 2 साल में सबसे ठंडी सुबह, पारा 2.2 डिग्री तक गिरा- कोहरे की चादर लिपटा उत्तर भारत


देश की राजधानी दिल्ली में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. हिमालय से बर्फीली हवाएं राजधानी समेत मैदानी इलाकों से टकरा रही हैं, जिसकी वजह से प्रचंड सर्दी ने जोर पकड़ लिया है. दिल्ली, पंजाब समेत पूरे उत्तर भारत में घने कोहरे की एक चादर सी बिछ गई है. उत्तर भारत के कई हिस्सों में गलन भरी शीत लहर का प्रकोप जारी रहा, जबकि घने कोहरे के चलते रेल परिचालन प्रभावित हुआ. दिल्ली में जबरदस्त शीत लहर के चलते मौसम की सबसे सर्द सुबह दर्ज की गई. यहां पारा तीन डिग्री सेल्सियस से नीचे लुढ़क गया. यह बीते दो वर्षों में जनवरी में दिल्ली में दर्ज सबसे न्यूनतम तापमान भी है.


सर्दी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शुक्रवार को दिल्ली के आयानगर स्टेशन पर 2.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया, जबकि बीते दिन सफदरजंग में 2.8 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया. कड़ाके की ठंड के बीच अधिकतर लोग अपने घरों के अंदर रहे और खुद को गर्म रखने के लिए हीटर चलाया और गर्म पेय पदार्थों का सेवन किया.

राष्ट्रीय राजधानी सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में ठंडी हवाएं चल रही थीं. मौसम विभाग ने बुधवार को दिल्ली-एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) के लिए भी गुरुवार और शुक्रवार के वास्ते ऑरेंज अलर्ट जारी किया था.


जम्मू-कश्मीर में भी तापमान में गिरावट दर्ज की गई, जहां राजधानी श्रीनगर में बुधवार की रात मौसम की सबसे सर्द रात बनकर उभरी. इस दौरान पारा शून्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया, जो बीते पांच वर्षों में श्रीनगर में जनवरी के महीने में दर्ज दूसरा सबसे न्यूनतम तापमान है. मंगलवार को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 5.2 डिग्री सेल्सियस कम रहा था. आईएमडी ने कहा कि गुरुवार सुबह उत्तर भारत के कई हिस्सों में घना कोहरा छाया रहा और दृश्यता घटकर 50 मीटर तक रह गई. विभाग के मुताबिक, आने वाले कुछ हफ्तों तक यही स्थिति बरकरार रहेगी.

कई ट्रेनों की रफ्तार हुई धीमी
रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि कोहरे के कारण कम से कम 12 ट्रेन डेढ़ से छह घंटे की देरी से चल रही हैं, जबकि दो रेलगाड़ियों के समय में बदलाव करना पड़ा है. आईएमडी के अनुसार, शून्य से 50 मीटर तक दृश्यता बहुत घने, 51 मीटर से 200 मीटर तक घने, 201 मीटर से 500 मीटर तक मध्यम और 501 मीटर से 1000 मीटर तक दृश्यता हल्के कोहरे की श्रेणी में आती है.

दिल्ली हवाईअड्डे ने भी कोहरे का अलर्ट जारी किया है और कहा है कि कम दृश्यता के कारण विमानों के परिचालन की प्रक्रिया चल रही है. दिल्ली हवाईअड्डे की ओर से जारी परामर्श में कहा गया है, फिलहाल सभी उड़ानें सामान्य हैं. यात्रियों से अनुरोध है कि वे उड़ान की अद्यतन जानकारी के लिए संबंधित एयरलाइन से संपर्क करें.

अधिकारियों ने कहा कि मौजूदा ठंड की स्थिति के कारण गुरुवार की सुबह दिल्ली में बिजली की अधिकतम मांग को 5,247 मेगावाट के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंचा दिया, जो पिछले दो वर्षों में सर्दियों के दौरान सबसे ज्यादा है. इस बीच, नोएडा में गुरुवार तड़के कोहरे के कारण कम दृश्यता होने से एक ट्रक और मोटरसाइकिल की टक्कर हो गयी, जिससे रेस्तरां के दो कर्मचारियों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए.

अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (नोएडा) आशुतोष द्विवेदी ने कहा, एडवंट टॉवर के पास अंडरपास बनाया जा रहा है. रात में कोहरे और कम दृश्यता के कारण कैंटर ट्रक अनियंत्रित हो गया. ट्रक ने पहले एक कंक्रीट के ढांचे को टक्कर मारी और फिर उस मोटरसाइकिल को टक्कर मारी जिस पर चार लोग सवार थे.

यहां जानें राज्यों के मौसम का हाल
राजस्थान में अलवर, भरतपुर, धौलपुर, झुंझुनू और करौली सहित कई जिलों में गलन भरी शीत लहर का प्रकोप जारी रहने के पूर्वानुमान के मद्देनजर मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. चूरू और सीकर में शून्य से नीचे न्यूनतम तापमान दर्ज किए जाने के साथ रेगिस्तानी राज्य कड़ाके की ठंड की चपेट में है. मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार रात फतेहपुर (सीकर) में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.8 डिग्री नीचे और चूरू में शून्य से 1.5 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.

राजस्थान के ज्यादातर हिस्सों में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा, वहीं गुरुवार की सुबह कई जगहों पर घना कोहरा भी छाया रहा. मौसम विभाग कार्यालय ने कहा कि अगले दो दिनों के दौरान राजस्थान में शीतलहर की स्थिति बनी रहेगी. मौसम विभाग के अनुसार, कश्मीर घाटी का प्रवेश द्वार कहलाने वाले काजीगुंड में बुधवार रात को न्यूनतम तापमान शून्य से 6.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो पिछली रात की तुलना में एक डिग्री कम है.

वहीं, अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर के रूप में काम करने वाला पहलगाम बुधवार को जम्मू-कश्मीर में सबसे ठंडा स्थान रहा. वहां न्यूनतम तापमान शून्य से 9.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. पंजाब और हरियाणा में पिछले कई दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है और गुरुवार को न्यूनतम तापमान कई स्थानों पर सामान्य से नीचे दर्ज किया गया. गुरदासपुर पंजाब में सबसे ठंडा स्थान रहा जहां न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

बठिंडा में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस, लुधियाना में 5.7 डिग्री सेल्सियस, पटियाला में 5 डिग्री सेल्सियस, अमृतसर में 5.5 डिग्री सेल्सियस जबकि मोहाली में 6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. हरियाणा के हिसार में कड़ाके की ठंड पड़ी, जहां न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

भिवानी का न्यूनतम तापमान 6.7 डिग्री सेल्सियस, करनाल का 6 डिग्री सेल्सियस, रोहतक का 5.4 डिग्री सेल्सियस, सिरसा का 6.4 डिग्री सेल्सियस जबकि अंबाला का न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पंजाब और हरियाणा की साझा राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 5.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आईएमडी ने मध्य प्रदेश के छह संभागों और 15 जिलों में मध्यम से घने कोहरे का ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है.

गुजरात के कच्छ जिले के नलिया गांव में राज्य का सबसे कम तापमान दो डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. बनासकांठा जिले में सबसे कम तापमान सात डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, इसके बाद कांडला हवाई अड्डे पर आठ डिग्री सेल्सियस जबकि भुज, गांधीनगर और वल्लभ विद्यानगर में न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अहमदाबाद का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस कम रहा.