logo

Post Office Scheme : बच्‍चों के पोस्ट ऑफिस में निकली धांसू स्कीम, मिलेगा 3 लाख रुपए , जानिए

 
Post Office Scheme : बच्‍चों के पोस्ट ऑफिस में निकली धांसू स्कीम, मिलेगा 3 लाख रुपए , जानिए
WhatsApp Group Join Now

New Delhi : निवेश के मामले में अब लोग काफी जागरुक हो रहे हैं. बात जब बच्‍चों की हो तो उनके जन्‍म के साथ ही पैरेंट्स की प्‍लानिंग शुरू हो जाती है.

हायर स्‍टडीज से लेकर शादी तक के लिए फंड की व्‍यवस्‍था कैसे करनी है, इसके लिए अक्‍सर पैरेंट्स फिक्रमंद रहते हैं और उन्‍हें निवेश के लिहाज से बेहतर स्‍कीम्‍स की तलाश रहती है.


वैसे तो आजकल बच्‍चों के लिए एफडी, पीपीएफ, सुकन्‍या समृद्धि वगैरह तमाम स्‍कीम्‍स हैं, जिसमें गारंटीड रिटर्न मिलता है. लेकिन पोस्‍ट ऑफिस की एक स्‍कीम ऐसी है जो बच्‍चों को जीवन बीमा कवर देती है, लेकिन इसके बारे में बहुत लोगों को पता नहीं है.

हम बात कर रहे हैं पोस्‍ट ऑफिस की बाल जीवन बीमा (Bal Jeevan Bima Scheme) की. इस स्‍कीम को खासतौर पर बच्‍चों के लिए तैयार किया गया है.


ये स्कीम पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस के तहत चलाई जाती है और इस स्कीम के तहत मैच्योरिटी पर 3 लाख रुपए तक का सम एश्योर्ड (Sum Assured) अमाउंट मिलता है. यहां जानिए इस स्‍कीम के बारे में.

5 से 20 साल की उम्र के बच्‍चों के लिए खरीद सकते हैं

पोस्ट ऑफिस (Post Office) की बाल जीवन बीमा को बच्‍चों के माता-पिता खरीद सकते हैं. इस स्‍कीम का फायदा अधिकतम दो बच्‍चों को दिया जा सकता है.


इसे 5 साल से 20 साल तक की उम्र के बच्‍चों के लिए खरीदा जा सकता है. जो पैरेंट्स अपने बच्‍चों के लिए ये इंश्‍योरेंस प्‍लान खरीदना चाहते हैं, उनकी उम्र 45 साल से ज्‍यादा नहीं होना चाहिए.

पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस के तहत 3 लाख रुपए तक का सम एश्योर्ड मिलता है, वहीं अगर आपने रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस (RPLI) के तहत पॉलिसी ली है तो पॉलिसीहोल्डर को 1 लाख रुपए तक का सम एश्योर्ड मिलेगा.


इस पॉलिसी को अट्रैक्टिव बनाने के लिए इसमें एंडोमेंट पॉलिसी की तरह ही बोनस शामिल किया गया है. रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस के तहत अगर आपने ये पॉलिसी ली है.

तो 1000 रुपए के सम एश्योर्ड पर आपको और हर साल 48 रुपए का बोनस दिया जाता है. वहीं पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस के तहत लेने पर हर साल 52 रुपए का बोनस दिया जाता है.


5 साल बाद पेडअप पॉलिसी बन जाती है

5 साल तक रेगुलर प्रीमियम भरने के बाद ये पॉलिसी पेडअप पॉलिसी बन जाती है. इस योजना में प्रीमियम भरने की जिम्‍मेदारी माता-पिता की होती है,

लेकिन अगर पॉलिसी की मैच्‍योरिटी से पहले उनकी मृत्‍यु हो जाए तो बच्‍चे का प्रीमियम माफ कर दिया जाता है. अगर बच्चे की डेथ हो जाती है तो नॉमिनी को सम एश्योर्ड का भुगतान कर दिया जाता है, साथ में बोनस भी दिया जाता है. 

लोन की सुविधा नहीं मिलती

इस स्‍कीम में आप मासिक, तिमाही, छमाही और सालाना तौर पर निवेश कर सकते हैं. अन्‍य तमाम पॉलिसीज की तरह इस स्‍कीम पर लोन की सुविधा नहीं मिलती है.

बच्चों के लिए यह पॉलिसी लेते समय मेडिकल एग्जामिनेशन की जरूरत नहीं होती है. हालांकि बच्चे का स्वस्थ रहना जरूरी है. एक बात ध्यान रहे इस स्कीम में पॉलिसी सरेंडर करने का प्रावधान नहीं है.