logo

Retirement Scheme: इन सरकारी स्कीम्स से मिलेगी 5 हजार रुपये तक की मासिक पेंशन, रिटायरमेंट के बाद मौज में कटेगा बुढ़ापा

Business News,EPF Scheme,PPF Scheme,retirement scheme,Top Pension Scheme,Top Retirement Scheme
 
Retirement Scheme: इन सरकारी स्कीम्स से मिलेगी 5 हजार रुपये तक की मासिक पेंशन, रिटायरमेंट के बाद मौज में कटेगा बुढ़ापा
WhatsApp Group Join Now

Retirement Scheme : अगर आप रिटायरमेंट के बाद बिना किसी आर्थिक परेशानी से गुजारना चाहते हैं तो ये खबर आपके लिए हैं। ऐसा करने के लिए आपको अपने पैसों की सेविंग करनी होगी। ये रकम रिटायरमेंट के बाद आपके काम आएगी। इसके लिए आप अपने पैसों को कुछ बेहतरीन स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं।

बहराल अपनी पूंजी को निवेश करने के लिए सही प्रोडक्ट का चुनाव करना होगा। चलिए कुछ ऐसी ही 4 स्कीम्स के बारे में जानते हैं जो कि रिटायरमेंट के बाद आपके पैसे की आवश्यकताओं को पूरा करेंगी।

पीपीएफ स्कीम

पीपीएफ स्कीम 15 सालों की लॉक-इन पीरियड वाली एक लॉन्ग टर्म निवेश स्कीम है ये स्कीम केंद्र सरकार के द्वारा ऑफर की जाती है। इसीलिए इसमें गारंटी के साथ में रिटर्न मिलता है।


इस स्कीम के तहत आप कम से कम 500 रुपये और मैक्जिमम 1.5 लाख तक का सालाना निवेश कर सकते हैं। बता दें किसी भी आयु का शख्स पीपीएफ खाता ओपन कर सकता है। इस स्कीम के लिए सरकार हर तिमाही में ब्याज दरों की समीक्षा करने की घोषणा करती है।

एनपीएस स्कीम

एनपीएस के तहत सशस्त बलों को छोड़कर 18 साल से 60 साल तक की आयु का कोई भी शख्स खाता ओपन कर सकता है। एनपीएस के तहत आप एक फाइनेंशिल ईयर में कम से कम 6 हजार रुपये का निवेश कर सकते हैं।


इसमें कम से कम 500 रुपये का मंथली इंस्टालमेंट के रूप में भी जमा कर सकते हैं। बता दें ये स्कीम 60 साल की आयु में मैच्योर होती है और इसे 70 सालों तक बढ़ाया जा सकता है।

ईपीएफ स्कीम

ईपीएफ स्कीम एक तरह की सरकारी संस्था है जिसमें सैलरी क्लास लोगों को अपनी बेसिक सैलरी का 12 फीसदी कंट्रीब्यूशन करना होता है। जबकि नियोक्ता को भी ईपीएफ खाते में इतनी ही रकम देनी होती है। बता दें नियोक्ता की सैलरी का 3.67 फीसदी ईपीएफ में जबकि 8.33 फीसदी भाग ईपीएफ में चला जाता है।


अटल पेंशन स्कीम

एपीवाई की बात करें तो इस स्कीम को बीजेपी सरकार के पहले कार्यकाल में शुरु किया गया था इस स्कीम का उद्देश्य गरीबों, वंचितों और संगठित क्षेत्रों के श्रमिकों की आर्थिक सेफअटी स्थापित करनी होती हैं।

इस स्कीम के हत 18 साल से 40 साल तक का कोई भी शख्स अपना पैसा जमा कर सकता है। 60 साल के बाद ग्राहकों को 1 हजार रुपये से 5 हजार रुपये तक की रकम पेंशन के रूप में मिलती है।