logo

जन-- जन तक यह संदेश पहुंचाना है, सिरसा को नशा मुक्त बनाना है --- पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ।

 
जन-- जन तक यह संदेश पहुंचाना है, सिरसा को नशा मुक्त बनाना है --- पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण । 
WhatsApp Group Join Now

सिरसा: नशे के खिलाफ संदेश को जन-जन तक पहुंचना है, तथा जिला को पूरी तरह से नशा मुक्त बनाना है । जिला के सभी युवाओं को खेलों के माध्यम से चुस्त -दुरुस्त बनाएंगे तथा जिला को पूरी तरह से नशा से मुक्ति दिलाएंगे।

जन-- जन तक यह संदेश पहुंचाना है, सिरसा को नशा मुक्त बनाना है --- पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण । 

नशा देश तथा समाज के आर्थिक विकास में सबसे बड़ी बाधा है ,इसलिए नशा मुक्त समाज बनाने के लिए सभी लोग एकजुट होकर अहम जिम्मेदारी निभाएं। नशा तस्करों का पूरी तरह से सामाजिक बहिष्कार करें तथा अपने गांव गली तथा  मोहल्ले की पूरी जिम्मेदारी लें तभी समाज पूरी तरह से नशा व अपराध मुक्त होगा।

जन-- जन तक यह संदेश पहुंचाना है, सिरसा को नशा मुक्त बनाना है --- पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण । 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नशा के सौदागरों के बारे में बेझिझक होकर पुलिस को सूचना दें, ताकि ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सके । उन्होंने कहा कि युवा अपनी प्रतिभा को पहचाने तथा शिक्षा तथा खेलकूद में बेहतर प्रदर्शन कर अपने इलाके का नाम रोशन करें। उक्त विचार जिला के पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने रानिया थाने के गांव संत नगर में स्थित सतगुरु प्रताप सिंह इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि नशा एक गंभीर समस्या है ,और इसे समाज से पूरी तरह से उखाड़ फेंकने के लिए सभी लोगों को आगे आकर नशे के खिलाफ चलाए जा रहे संभाजिक आंदोलन में अपनी अधिक से अधिक भागीदारी निभानी पड़ेगी । 


पुलिस अधीक्षक  विक्रांत भूषण ने कहा कि जिला पुलिस अपने स्तर पर नशे के खिलाफ लगातार जोरदार अभियान चला रही है, जिसके तहत नशा तस्करों पर लगातार शिकंजा कसा जा रहा है।  पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नशा तस्करों की धर पकड़ के साथ-साथ नशे की काली कमाई से अर्जित की गई संपत्ति को चिन्हित कर उसे जब्त करने के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने बताया कि जिला पुलिस द्वारा जहां नशा तस्करों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा रही है, वहीं युवाओं तथा ग्रामीणों को नशे के खिलाफ जागरूक किया जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने बताया कि जिला भर के युवाओं को नशे से दूर रखने तथा उन्हें खेलों से जोड़ने के लिए जिला स्तर पर पुलिस की वॉलीबॉल, हैंडबॉल, कबड्डी तथा क्रिकेट इत्यादि की चार टीमों का गठन किया गया है । उन्होंने बताया कि पुलिस जवान गांव दर गाँव जाकर सुबह और शाम युवाओं को खेल गतिविधियों से जोड़कर उन्हें नशा मुक्ति का संदेश दे रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने बताया कि पुलिस जवान गांवो में श्रमदान कर ग्रामीणों के सहयोग से खेल स्टेडियमो को खेलने योग्य बना कर समाज सेवा का अनुठा उदाहरण  प्रस्तुत कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांवो में खेल गतिविधियां आयोजन करने का उद्देश्य  युवाओं को नशे से दूर रखकर उन्हें खेलों से जोड़ना है,ताकि कोई भी युवा पथ भ्रष्ट होकर नशे का शिकार ना हो सके।


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिला पुलिस द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता अभियान के काफी सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे है, और जहां गांव के युवक खेलों की ओर आकर्षित हो रहे हैं, वहीं पुलिस के अभियान से प्रभावित होकर अनेक युवा नशा छोड़ने के लिए आगे आ रहे हैं, जिनका स्थानीय प्रशासन के सहयोग से इलाज करवाया जा रहा है ।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों से कहा कि वे अपने बच्चों की दैनिक गतिविधियों पर पैनी नजर रखें तथा उन्हें शिक्षा तथा खेलों में आगे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रेरित करें । पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने कहा किअगर किसी गलत संगत का शिकार होकर कोई युवा नशे की दलदल में फंस गया है, तो वह पुलिस प्रशासन को सूचित करें, ताकि उसका इलाज करवा कर उसे फिर से समाज की मुख्य धारा में शामिल किया जा सके । इस अवसर पर गांव संत नगर में रस्सा-कस्सी तथा वॉलीबॉल खेल की प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया ।

इस अवसर पर ऐलनाबाद के डीएसपी अजायब सिंह, रानिया थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राधेश्याम, स्कूल गांव प्रिंसीपल डा: पुनीत च॓देल,जीवन नगर चौकी प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक पृथ्वी सिह॔,गुरमीत सिंह बडैच सहित अनेक युवा तथा ग्रामीण मौजूद रहे।