logo

वैष्णोदेवी जाने का सफर होगा आसान, अब हरियाणा के इन जिलों से होकर गुजरेगा दिल्ली- कटरा एक्सप्रेसवे

Delhi Katra Expressway Updates, Delhi Katra Expressway Update, delhi amritsar karta expressway, delhi amritsar karta expressway route map, delhi amritsar karta expressway tender, delhi amritsar karta expressway alignment, delhi amritsar karta expressway map, delhi amritsar karta expressway time, delhi amritsar karta expressway nhai, delhi amritsar karta expressway vaishno devi, delhi amritsar karta expressway contractor list, delhi amritsar karta expressway status, delhi amritsar karta expresswa
 
वैष्णोदेवी जाने का सफर होगा आसान, अब हरियाणा के इन जिलों से होकर गुजरेगा दिल्ली- कटरा एक्सप्रेसवे
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, Digital Desk- नई दिल्ली:  केन्द्र की मोदी सरकार बेहतर सड़क कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से देशभर में हाइवे और एक्सप्रेसवे का जाल बिछा रहा है। इसी कड़ी में नेशनल हाईवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) दिसंबर, 2024 तक ऐसी करामात करने जा रहा है कि दिल्‍ली से सुबह चलकर भक्‍तगण शाम तक माता वैष्‍णों देवी के दर्शन कर लेंगे। 


दिल्‍ली-कटरा एक्‍सप्रेसवे पूरा होने के बाद दोनों शहरों के बीच की दूरी घटकर 8 घंटे कम हो जाएगी। दरअसल, दिल्‍ली-कटरा एक्‍सप्रेसवे के हरियाणा में हो रहे निर्माण की तस्‍वीरें देखकर मन में एक अलग ही उत्‍साह जाग रहा है। इस एक्‍सप्रेसवे का ज्‍यादातर हिस्‍सा हरियाणा में ही बन रहा है। करीब 670 किलोमीटर का यह एक्‍सप्रेसवे फिलहाल फोर लेन का बनाया जा रहा है, लेकिन भविष्‍य में इसे आठ लेन तक बढ़ाया जा सकता है।


यह दिल्‍ली के पास हरियाणा के झज्जर जिले से शुरू होगा और कटरा में खत्‍म होगा। एक्‍सप्रेसवे दिल्‍ली से अमृतसर होते हुए कटरा तक जाएगा। इस एक्सप्रेसवे पर सफर करने का एक अलग ही अनुभव रहने वाला है। हरियाणा में बन रहा पहले और दूसरे चरण का काम काफी तेजी से चल रहा है। 


इस एक्‍सप्रेसवे के पहले चरण में 397.7 किलोमीटर का ग्रीनफील्‍ड एक्‍सप्रेसवे बनाया जा रहा है, जो दिल्‍ली से लुधियाना और गुरदासपुर के बीच बनाया जाएगा। इसके अलावा 99 किलोमीटर का एक कनेक्टिंग रोड़ नाकोदर से अमृतसर के बीच बनाया जाएगा। रोड़ की चौड़ाई करीब 90 मीटर की हैं और इसे बनाने में करीब 35 हजार करोड़ रुपये के बजट का अनुमान लगाया गया है।


इस एक्‍सप्रेसवे के दूसरे चरण के तहत गुरदासपुर से पठानकोट और फिर जम्‍मू से कटरा तक एक्‍सप्रेसवे का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा 12.34 किलोमीटर का एक लिंक रोड़ पठानकोट से गोबिंदसर तक बनाया जाएगा। यह एक्‍सप्रेसवे से हरियाणा के झज्जर, रोहतक, सोनीपत, जींद, करनाल और कैथल जिले से होकर गुजरेगा।


इसके अलावा पंजाब के पटियाला, संगरूर, लुधियाना, जालंधर, कपूरथला, तरनतारन, अमृतसर और गुरदासपुर जिले तक जाने के लिए भी लिंक रोड़ बनाया जाएगा। इस एक्‍सप्रेसवे का निर्माण पूरा होने के बाद दिल्‍ली से वैष्‍णों देवी पहुंचना काफी आसान हो जाएगा।

इसका निर्माण पूरा होने के बाद दोनों शहरों के बीच की दूरी मौजूदा 730 किलोमीटर से घटर 590 किलोमीटर रह जाएगी। इतना ही नहीं दिल्‍ली से कटरा तक जाने में अभी लगने वाला 14 घंटे का सफर घटकर महज 6 घंटे रह जाएगा।

 यानी दोनों शहरों के बीच ट्रैवल टाइम करीब 8 घंटे कम हो जाएगा. इसका मतलब हुआ कि अगर दिल्‍ली से सुबह 6 बजे कटरा के लिए निकलते हैं तो दोपहर 12 से 1 बजे तक कटरा पहुंज जाएंगे। फिर 2 बजे भी वैष्‍णों माता दरबार की चढ़ाई शुरू करते हैं तो रात 9 बजे तक आप दरबार में पहुंच सकते हैं।

इसी तरह, दिल्‍ली से चंडीगढ़ तक जाने वालों को महज 2 घंटे खर्च करने पड़ेंगे। अभी दिल्‍ली से चंडीगढ़ पहुंचने में करीब 6 घंटे का समय लगता है। नया एक्‍सप्रेसवे पूरा होने के बाद दोनों शहरों के बीच की दूरी करीब 20 किलोमीटर कम हो जाएगी, जबकि सफर में लगने वाला समय महज एक तिहाई रह जाएगा। इसकी वजह ये है कि दिल्‍ली-कटरा एक्‍सप्रेसवे पर गाडि़यों की अधिकतम स्‍पीड 120 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है।

वहीं दिल्‍ली-कटरा एक्‍सप्रेसवे के जरिये महज 4 घंटे में ही अमृतसर पहुंचा जा सकता है। अगर किसी को अमृतसर जाकर स्‍वर्ण मंदिर में मत्‍था टेकना है तो सुबह दिल्‍ली से चलकर शाम तक वापस भी आ सकता है।

अभी दिल्‍ली से अमृतसर तक पहुंचने में 7 घंटे से ज्यादा का समय लगता है। दोनों शहरों के बीच की दूरी करीब 450 किलोमीटर है। नया एक्‍सप्रेसवे बनने के बाद यह दूरी घटकर 350 किलेामीटर तक पहुंच जाएगी।