logo

JJP से गठबंधन टूटने पर बोले केंद्रीय गृहमंत्री अमितशाह

कहा कि जजपा के साथ हमारा रिश्ता अभी भी खराब नहीं है।
 
े
WhatsApp Group Join Now


Mhara Hariyana News, New Delhi. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हरियाणा में भाजपा और जननायक जनता पार्टी के बीच गठबंधन टूटने के कारण का खुलासा किया है। अमित शाह ने कहा कि जननायक जनता पार्टी (JJP) की हरियाणा में लोकसभा सीटों की संख्या को लेकर कुछ डिमांड थी। उस डिमांड को अपनी पार्टी की व्यापकता और मजबूती को देखते हुए पूरी नहीं कर सकते थे।

हरियाणा में गठबंधन टूट जाने के बाद केंद्रीयगृहमंत्री अमित शाह ने गठबंधन टूटने के बाद पहली प्रतिक्रिया दी। केंद्रीयगृहमंत्री ने कहा कि सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बनी इसलिए हरियाणा में लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन टूट गया। हालांकि अमित शाह ने कहा कि जजपा के साथ हमारा रिश्ता अभी भी खराब नहीं है। हम झगड़ा कर अलग नहीं हुए हैं। हमारे बीच कोई गाली-गलौज भी नहीं हुआ है। भाजपा व जजपा दोनों ही अच्छे मूड में अलग हुए हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार रात को एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे। 

अमित शाह ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कामकाज और काबिलियत की तारीफ की। साथ ही उन्हें केंद्र में किसी बड़ी भूमिका में लिए जाने के संकेत भी दिए। अमित शाह ने कहा कि मनोहर लाल कैसे व्यक्ति हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें अच्छी तरह से जानते हैं। वर्णनीय है कि कुछ दिन पहले हरियाणा के दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मनोहर लाल की खुलकर सराहना की थी। 

'मनोहर लाल   पुराने कार्यकर्ता'
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में कहा था कि मनोहर लाल  पुराने कार्यकर्ता हैं।  अच्छे नेता हैं। उनका उपयोग कहीं भी हो सकता है। हरियाणा में भी हो सकता है और केंद्र में भी। अगर कोई ऐसे आकलन करता है कि चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ा जाएगा या नहीं, यह किसी का दोष नहीं, बल्कि आकलन करने वाले का दोष है।  उधर शुक्रवार को चंडीगढ़ में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पूर्व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गठबंधन सरकार में बतौर उपमुख्यमंत्री उनका अनुभव बहुत अच्छा रहा है और प्रदेश के हित में हमने काम किया है। उन्होंने पूर्व सीएम मनोहर लाल से हुई मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया। 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि लाभ-हानि का फैसला जनता तय करती है, हम नहीं। उन्होंने कहा जजपा का गठन अन्य पार्टियों के फायदे के लिए नहीं हुआ है बल्कि जनता की आवाज उठाने के लिए हुआ है।