logo

आर्यन खान की जांच में कई खामियां, 300 पन्नों की रिपोर्ट में NCB अधिकारियों पर उठे कई सवाल

Many flaws in Aryan Khan's investigation, many questions raised on NCB officials in 300-page report

 
Many flaws in Aryan Khan's investigation, many questions raised on NCB officials in 300-page report
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News:

आर्यन खान ड्रग केस में अब एनसीबी के अधिकारियों की जांच पर सवाल उठाए जा रहे हैं. एनसीबी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कॉड्रिलिया ड्रग्स केस की जांच में जिस SIT का गठन एनसीबी ने किया था उसने अपनी 3000 पन्नों की रिपोर्ट एनसीबी डीजी को सौंप दी है. शाहरुख खान के बेटे आर्यन से जुड़े इस मामले ने सालभर खूब सुर्खियां बटोरी थीं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अब एसआईटी (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) ने इस जांच में कुछ अफसरों के इंटेंशन पर सवाल उठाए हैं. आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने मुंबई के क्रूज टर्मिनल से गिरफ्तार किया था. इस मामले में एनसीबी ने एसआईटी का गठन किया था. एसआईटी टीम की बनाई हुई रिपोर्ट में लिखा गया है कि आर्यन खान केस में अनियमितताएं नजर आ रही हैं.


शुरू हुई करवाई
इस रिपोर्ट में ये भी लिखा गया है कि एनसीबी ने 65 लोगों के बयान दर्ज किए हैं, लेकिन इनमें से कुछ लोगों ने 3 से 4 बार अपने बयान बदल दिए हैं. कहा जा रहा है कि इस पूरे मामले को लेकर डिटेल रिपोर्ट दिल्ली भेज दी गई है. इस रिपोर्ट में सिर्फ कुछ लोगों के खिलाफ सेलेक्टिव होने की बात भी लिखी गई है. लगभग 7 NCB अधिकारियों की भूमिका पर सवाल उठाए गए हैं. सूत्रों की अगर मानें तो जो एनसीबी में काम कर रहे हैं उन अधिकारियों के खिलाफ डिपार्टमेंटल कार्रवाई करने की सिफारिश इस रिपोर्ट में की गई है और उसकी शुरुआत हो चुकी है. वहीं जो अधिकारी फिलहाल डेपुटेशन पर दूसरे एजेंसी के साथ जुड़े हुए हैं उनकी रिपोर्ट उनके कैडर के हेड को दी गई है ताकि वो उचित कार्रवाई करें.

आर्यन खान को मिल गई थी क्लीन चीट
आपको बता दें कि इस ड्रग्स मामले में शाहरुख खान के बेटे आर्यन को NCB द्वारा क्लीन चिट दे दी गई थी. आर्यन को क्लीन चिट मिलने के बाद अब इस केस की जांच से जुड़े अधिकारियों के खिलाफ सरकार की तरफ से कार्रवाई के आदेश दिए गए थे. इस केस में आर्यन को 22 दिन जेल में बिताने पड़े थे. 22 दिनों के बाद उन्हें जमानत दे दी गई थी.

सूत्रों की मानें तो ये रिपोर्ट एनसीबी के लिए एक आईना दिखाने वाली है, जिसमें अंत में एनसीबी के वर्क फ्लो से लेकर मीडिया पॉलिसी तक में बदलाव सुझाए गए हैं. आर्यन खान जिन्हें एनसीबी ने ड्रग केस से कुछ दिन पहले बरी कर दिया था, तब उनके केस में गवाह रहे प्रभाकर साईल ने एनसीबी के खिलाफ बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख से अपने बेटे की रिहाई के लिए फिरौती मांगने का आरोप लगाया था. कैसे एनसीबी अधिकारी कुछ लोगों को अपने साथ जोड़कर ये प्लान कर रहे थे ये भी आरोप लगाया था.