logo

अवैध शराब केस : ड्राइवर के नाम पर 110 करोड़ का कारोबार, शराब केस में पकड़ा गया तो भागकर गृह मंत्री के पास पहुंचा

ड्राइवर की शिकायत मिलते ही अनिल विज ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) सहित 4 विभागों को इसकी जांच सौंप दी।
 
Illicit liquor case

Mhara Hariyana News

हरियाणा में ड्राइवर के नाम पर 110 करोड़ के शराब कारोबार का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। पानीपत का रहने वाला ड्राइवर खुद ही गृह मंत्री अनिल विज के पास पहुंच गया। जहां उसने इसकी शिकायत की।

ड्राइवर की शिकायत मिलते ही अनिल विज ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) सहित 4 विभागों को इसकी जांच सौंप दी। इसके साथ ही ड्राइवर की सुरक्षा के लिए तुरंत पुलिस सिक्योरिटी भी दी। ड्राइवर अंबाला से पानीपत पुलिस सुरक्षा में ही लौटा।

अवैध शराब कारोबार में पुलिस ने पकड़ा तो खुलासा हुआ
शराब ठेकेदार ड्राइवर के नाम पर कारोबार करता जा रहा था। ड्राइवर को पहले इसकी भनक नहीं थी। अचानक उसका नाम अवैध शराब के कारोबार में आ गया तो वह चौंक गया। पुलिस ने ड्राइवर को गिरफ्तार भी कर लिया। वह पुलिस से छूटा तो सीधे गृह मंत्री अनिल विज के पास पहुंचा।

खुलासे से गृह मंत्री विज भी चौंके
जहां उसने अपनी आपबीती सुनाई। विज भी ड्राइवर के खुलासे को लेकर हतप्रभ हो गए। उन्होंने तत्काल प्रवर्तन निदेशालय, DGP हरियाणा, इनकम टैक्स और आबकारी-कराधान विभाग के अधिकारियों से बात कर जांच के निर्देश दिए।

पुलिस सुरक्षा में पहुंचा पानीपत
विज से ड्राइवर ने अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जताई तो गृह मंत्री अनिल विज ने पुलिस सुरक्षा दिलवाई। विज ने पानीपत पुलिस को भी ड्राइवर की सुरक्षा को लेकर सख्त निर्देश जारी किए हैं। साथ ही हिदायत दी है कि इस मामले में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।

15 हजार रुपए में करता नौकरी
शिकायतकर्ता ड्राइवर पानीपत के गांव जोसी गांव का रहने वाला है। ड्राइवर ने बताया कि वह पानीपत में शराब ठेकेदार के पास 15 हजार रुपए महीने की नौकरी करता है। ड्राइवर ने पानीपत पुलिस पर उसे जबरन गिरफ्तार करने का भी आरोप लगाया है। उसने बताया कि उसने अपनी बेगुनाही का सबूत भी दिया, मगर उसकी एक नहीं सुनी गई।