logo

हत्या मामले में 31 साल बाद दो भाइयों समेत 8 को उम्रकैद

 
हत्या मामले में 31 साल बाद दो भाइयों समेत 8 को उम्रकैद
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, Saharnpur

सहारनपुर कोर्ट ने दोहरे हत्याकांड में 8 लोगों को 31 साल बाद उम्रकैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने 36.40 लाख रुपए दोषी पर 4.55 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। 
फैसला एसटी-एसटी एक्ट की विशेष न्यायाधीश सरला दत्ता ने सुनाया है। मामला थाना तीतरों के गांव महंगी का है, 5 अप्रैल 1992 में छेड़छाड़ के विरोध में दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया गया था जबकि ट्रायल के दौरान तीन लोगों की मौत हो चुकी है।

31 साल पहले हुई थी रिपोर्ट दर्ज
सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अमित कुमार त्यागी ने बताया, 5 अप्रैल 1992 को थाना तीतरों के गांव महंगी के ब्रजपाल ने रिपोर्ट दर्ज कराई कराई थी। आरोप था, योगेंद्र पक्ष ने छेड़छाड़ के शक के आधार पर वादी के परिजनों पर हमला बोल दिया था। 
इसमें वादी के भाई बलजीत तथा उसके बेटे विनोद की गोली लगने से मौत हो गई, जबकि इंदौर, देशराज, बरमी, राजकुमार, कंवरपाल गंभीर रूप से घायल हो गए थे। मामले में योगेंद्र, राकेश, ओमपाल, महा सिंह, ऋषिपाल, सुखबीर, सतीश, नरेश, प्रमोद, विनोद और करण को नामजद किया गया था। प्रमोद व विनोद सगे भाई है।

पुलिस ने नहीं भेजी थी चार्जशीट
31 साल तक चली कानूनी लड़ाई में पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट नहीं भेजी थी। ट्रायल के दौरान योगेंद्र, राकेश और ओमपाल की मौत हो गई जिस कारण उनकी पत्रावली अबेट (समाप्त) कर दी गई। तब पीड़ित परिवार ने कोर्ट की मदद ली जिसके बाद कोर्ट ने आरोपियों और पुलिस को तलब किया था।

इसके बाद पुलिस ने बचे हुए आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। शेष आठ आरोपियों की ओर से आए साक्ष्य व दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने हत्या, जानलेवा हमला, साक्ष्य मिटाने का प्रयास और एससी-एसटी एक्ट में इन सभी आठ लोगों को दोषी करार दिया। 
कोर्ट ने इन 8 लोगों पर 36.40 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। दोषी फिलहाल जमानत पर थे।