logo
CUET UG Result: रिजल्ट से पहले समझ ले मार्किंग स्कीम, जानिए स्टूडेंट को कैसे मिलेंगे नंबर
रिजल्ट के जारी होने के बाद उम्मीदवार अपने सीयूईटी स्कोर को ऑफिशियल वेबसाइट cuet.samarth.ac.in पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं.
 
रिजल्ट के जारी होने के बाद उम्मीदवार अपने सीयूईटी स्कोर को ऑफिशियल वेबसाइट cuet.samarth.ac.in पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं.

Mhara Hariyana News:

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) सीयूईटी रिजल्ट 2022 का ऐलान जल्द ही कर सकता है. यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) चेयरमैन एम जगदीश कुमार के द्वारा दिए गए सीयूईटी रिजल्ट अपडेट के मुताबिक, 15 सितंबर से पहले कभी भी रिजल्ट का ऐलान किया जा सकता है.

एक बार रिजल्ट के जारी होने के बाद उम्मीदवार अपने सीयूईटी स्कोर को ऑफिशियल वेबसाइट cuet.samarth.ac.in पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं. देश की 40 से ज्यादा सेंट्रल यूनिवर्सिटीज और कई अन्य यूनिवर्सिटीज में इस साल अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में एडमिशन सीयूईटी स्कोर के आधार पर दिया जाएगा.


यूजीसी चेयरमैन जगदीश कुमार ने 9 सितंबर को ट्वीट कर कहा था कि एनटीए सीयूईटी रिजल्ट को 15 सितंबर तक जारी कर देगी. यही वजह है कि उम्मीदवारों को बताया जाता है कि एनटीए इससे पहले भी रिजल्ट का ऐलान कर सकती है.

अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर गुरुवार को रिजल्ट का ऐलान किया जा सकता है. सीयूईटी रिजल्ट के साथ-साथ फाइनल आंसर की को भी जारी किया जा सकता है. ये सभी सीयूईटी समर्थ पोर्टल पर अवेलेबल होंगे. ऐसे में आइए रिजल्ट और आंसर की से पहले सीयूईटी यूजी 2022 की मार्किंग स्कीम को समझा जाए.

क्या है CUET UG Marking Scheme?

एनटीए द्वारा जारी किए गए इंफोर्मेशन बुलेटिन के मुताबिक, हर सही सवाल के लिए पांच नंबर दिए जाएंगे और हर गलत सवाल के लिए एक नंबर काटा जाएगा. आइए इसे विस्तार से समझा जाए…


किसी सवाल का जवाब नहीं देने पर उसके लिए जीरो नंबर दिए जाएंगे.
अगर एक से ज्यादा ऑप्शन सही पाए जाते हैं, तो उन स्टूडेंट्स को पांच नंबर दिया जाएगा, जिन्होंने सही जवाब दिया होगा.
अगर सभी ऑप्शन सही होते हैं, तो सवाल का जवाब देने वाले स्टूडेंट को पांच नंबर दिए जाएंगे.
यदि कोई भी ऑप्शन सही नहीं पाया जाता है या कोई सवाल गलत पाया जाता है या कोई सवाल ड्रॉप कर दिया जाता है, तो ड्रॉप किए गए सवाल का प्रयास करने वाले सभी उम्मीदवारों को पांच नंबर दिए जाएंगे.
यूनिवर्सिटी और कॉलेजों ने पहले ही यूजी एडमिशन के प्रोसेस की शुरुआत कर दी है. 12 सितंबर को दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अपने एडमिशन पोर्टल को लॉन्च कर दिया और उम्मीदवारों के लिए एप्लिकेशन फॉर्म भी उपलब्ध करा दिए.