logo

IIT JEE Advanced में बैठने के लिए JEE Mains में कितने नंबर चाहिए?

How many marks are required in JEE Mains to appear in IIT JEE Advanced?
 
IIT JEE Advanced में बैठने के लिए JEE Mains में कितने नंबर चाहिए?


JEE Mains क्वालीफाई करने पर जहां NIT’s और IIIT’s में एडमिशन का रास्ता साफ करता है. वहीं यही स्कोर स्टूडेंट्स को JEE Advanced की खिड़की भी खोलता है. इस कॉपी में साल 2022 के उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि IIT’s में एडमिशन के लिए कितनी मेहनत करनी होगी. बीते साल एक सीट के लिए 10 स्टूडेंट JEE Advanced में रजिस्टर हुए थे. कुछ ने एग्जाम नहीं दिया तो आंकड़ा 9.39 हो गया था. कम्पटीशन इस साल भी होगा कमर कसकर पहले JEE Mains निकालने की तैयारी करें फिर JEE Advanced की.


आप सब जानते हैं कि JEE मेन्स के एग्जाम इसी महीने तय हैं. इसे क्वालीफाई करने वाले JEE अडवांस्ड दे पायेंगे. एडवांस्ड के लिए अभी जो मानक हैं, उसके मुताबिक इंटर में 75 फीसदी या सम्बंधित बोर्ड के टॉप 20 पर्सेंटाइल में आपका आना जरूरी है. यह इंटर के रिजल्ट आने के बाद तय होगा. अभी तो आप तैयारी जारी रखिये और जेईई मेन्स के लिए ताकत झोंक दीजिये. किसी भी तरह की ढिलाई आपके सपने को चकनाचूर कर सकती है.

पिछले साल कितने स्टूडेंट्स ने दिया एग्जाम?
साल 2022 में 11.48 लाख स्टूडेंट्स ने JEE मेन दिया था. इनमें से दस लाख ने इसे क्लियर कर लिया था. ढाई लाख JEE Advanced के लिए योग्य पाए गए. 1.60 लाख ने खुद को इस एग्जाम के लिए रजिस्टर किया, लेकिन एग्जाम देने सिर्फ 1.56 लाख आये. इस समय देश में 23 IIT’s हैं और उनमें सीटों की संख्या है 16598. मतलब हर एक सीट पाने के लिए बीते साल 9.39 स्टूडेंट्स ने संघर्ष किया.

स्वाभाविक है कि सफल सिर्फ उतने ही हुए, जितनी सीट्स उपलब्ध थीं. जेईई एडवांस्ड क्वालीफाई करने के बाद अगर IIT नहीं मिला तो इसका यह मतलब नहीं है कि स्टूडेंट कमजोर है. इसका मतलब यह है कि हमारे पास सीट्स नहीं हैं. इसलिए निराश भी नहीं होना है. IIT भविष्य का अंतिम दरवाजा नहीं है.

JEE Main 2022 Cutoff

Category Minimum Maximum
General 88.41 100
Gen-PwD 0.003 88.37
EWS 63.11 88.40
OBC-NCL 67.00 88.40
SC 43.08 88.40
ST 26.77 88.40

IIT Madras का क्या रहा हाल?
इस कट-ऑफ के बाद टॉप में शुमार IIT Madras में एडमिशन के बारे में जानते हैं. यहां 2022 में सर्वाधिक डिमांडिंग कोर्स कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में जनरल कैटेगरी के छठें रैंक वाले स्टूडेंट्स को भी एडमिशन मिला है और 175 रैंक वाले को भी यहां इसी कोर्स में एडमिशन मिला है. यहीं नेवल आर्किटेक्चर एवं ओशन इंजीनियरिंग में जनरल के लिए 5877 रैंक पर खुला और 7966 पर बंद हुआ. इसी कोर्स में 13887 रैंक पर एक बेटी को एडमिशन मिला है. यही IIT मद्रास की सबसे नीचे की रैंक है.

नए IIT का क्या रहा हाल?
अब अपेक्षाकृत नए IIT रोपड़ में बीते साल की एडमिशन की स्थिति भी जान लेते हैं. यहां जनरल के लिए CSE 945 रैंक पर खुला और 1883 बंद हुआ. वहीं जनरल कैटेगरी की बेटियों के लिए CSE की रैंक यहां खुली 3425 और बंद हुई 4951 पर. IIT रोपड़ में सिविल इंजीनियरिंग में जनरल की रैंक खुली 10422 और बंद हुई 11890 पर. यहीं जनरल कैटेगरी की बेटी के लिए सिविल इंजीनियरिंग में ही रैंक खुली 19076 और बंद हुई 19290 पर.