logo

श्री बाबा बिहारी जी का 53 वां महापरिनिर्वाण दिवस एक जनवरी को

30 दिसंबर की रात आठ बजे आयोजित की जाएगी भजन संध्या
 
 
53rd Mahaparinirvan Day of Shri Baba Bihari Ji on 1st January
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। श्री बाबा बिहारी स्मृति चेरिटबल ट्रस्ट सिरसा की एक बैठक  प्रधान गोबिंद कांडा की अध्यक्षता में श्री बाबा बिहारी समाधि परिसर स्थित हाल में आयोजित की गई जिसमें ट्रस्ट के सदस्यों, पदाधिकारियों ने भाग लिया।  इस बार श्री बाबा बिहारी जी के 53 वें महापरिनिर्वाण दिवस समारोह को लेकर एक बैठक का आयोजन टस्ट के प्रधान गोबिंद कांडा की अध्यक्षता में किया गया। 30  दिसंबर की रात को भजन संध्या का और एक जनवरी को महापरिनिर्वाण दिवस पर सुबह हवन यज्ञ और बाद में  विशाल भंडारे का आयोजन किया गया जाएगा। गोबिंद कांडा ने भंडारे के लिए एक लाख  रुपये देने की घोषणा की।

Bhajan evening will be organized on 30th December at 8 pm
इस बैठक में श्री बाबा बिहारी समाधि स्थल के मुख्य सेवक गुलाब राय गुज्जर, अनिल बांसल, महेश सुरेकां, प्रदीप मित्तल, मनोज बांसल, गोपाल सर्राफ, सुशील झंूथरा, प्रवीन नरूला,  सुरेश सेठ चीनी, नरेश मिढा, अनिल मिढा, गुरमुख कोचर,  अमित नरूला, दलीप सिंह, डा.मनोज तिवारी, सुनील नरूला,  जगदीश गुज्जर,  इंद्रोश लक्ष्य गुज्जर, कृष्ण गोपाल गोयल, अशोक गोयल, अमित मेहराणा, राजेंद्र सुधा, रूपराम पंडित, देवेंद्र कुमार,  विधायक के पीए हरिप्रकाश शर्मा,  राजकुमार चौधरी, बलङ्क्षजद्र नरूला, सूरजभान गुज्जर, राजेंद्र सिंह पप्पू रांझा,विजय यादव  आदि मौजूद थे। बैठक में सबसे पहले समाधि के सेवादार तरूण गुज्जर के निधन पर सभी ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। इस बैठक की शुरूआत करते हुए मुख्यसेवक गुलाबराय गुज्जर ने कहा कि जो दिया जाता है वह वापस जरूर आता है।  धार्मिक आयोजन में हर किसी के योगदान से भाईचारा प्रबल होता है। उन्होंने कहा कि बच्चों को संस्कार देना जरूरी है उन्हें धर्म के प्रति ज्ञान देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि गोबिंद कांडा और अन्य ट्रस्टियों के अथक प्रयास से नया विशाल हॉल बनकर तैयार है जिसका उदघाटन प्रधान गोबिंद कांडा द्वारा जल्द ही किया जाएगा।


 प्रधान गोबिंद कांडा ने कहा कि संतों के दर्शन भाग्य से होते है और संतों के भाग्य से ही शुभकर्म करने के अवसर प्राप्त होते हैं। उन्होंने कहा कि मानव की सेवा के लिए हर किसी को आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि गली अरोड़ा सुनारोवाली में बाबा बिहारी जी की कुटिया (पैतृक भवन) भव्य है जो बाबा जी की तपोस्थली है, वहां भी लोगों को जाकर बाबा जी का आशीर्वाद लेना चाहिए। उन्होंने बताया कि  30 दिसंबर की रात को भजन संध्या का आयोजन होगा  और एक जनवरी को महापरिनिर्वाण दिवस पर सुबह सात बजे हवन यज्ञ और बाद में बाबा जी की  इच्छा तक विशाल भंडारे का आयोजन किया गया जाएगा। इस मौके पर प्रधान गोबिंद कांडा ने भंडारे के लिए एक लाख और कथा आयोजन के लिए एक लाख रुपये देने की घोषणा की। इसके साथ ही महेश सुरेकां  ने 51  हजार रुपये का आर्थिक सहयोग भंडारे के लिए दिया। बाबाजी के भक्तों ने भंडारे के लिए दिल खोलकर आर्थिक सहयोग दिया।