logo
कांग्रेस द्वारा सीएम दौरे के विरोध ऐलान के बाद प्रशासन ने की जिला कांग्रेस कमेटी से वार्ता
कांग्रेस नेता बोले: अगर प्रशासन बातों पर कायम न रहा, तो कांग्रेस करेगी सीएम दौरे का पूर्ण विरोध
 
कांग्रेस नेता बोले: अगर प्रशासन बातों पर कायम न रहा, तो कांग्रेस करेगी सीएम दौरे का पूर्ण विरोध

Mhara Hariyana News:

सिरसा। 18 सितंबर को मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहरलाल सिरसा आएंगे और बीते दिनों कांग्रेस की तरफ से सीएम दौरे के विरोध का ऐलान किया गया था। इस पर आज उपायुक्त ने जिला कांग्रेस कमेटी को वार्ता के लिए आमंत्रित किया और विरोध न जताने का आग्रह किया।


पूर्व सांसद चरणजीत सिंह रोडी, राजकुमार शर्मा, आनंद बियानी, नवीन केडिया, सुभाष जोधपुरिया, राजेश चाडीवाल, लादूराम पूनिया, रिछपाल कंबोज, जयप्रकाश, गुरलाल सेखों बुधवार दोपहर में उपायुक्त कार्यालय पहुंचे और करीब एक घंटे तक विभिन्न मुद्दों व मांगों पर चर्चा हुई। वार्ता में जिला उपायुक्त पार्थ गुप्ता, पुलिस अधीक्षक डॉ. अर्पित जैन, एसडीएम जयवीर यादव व नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी संदीप मलिक सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।


वार्ता के बाद पत्रकारों से बातचीत में उक्त कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सिरसा की बिगड़ती दुर्दशा के लिए जिला कांग्रेस कमेटी ने ऐलान किया था कि मुख्यमंत्री हरियाणा के सिरसा दौरे का विरोध जताएंगे लेकिन इससे पहले ही प्रशासन की तरफ से वार्ता कर कुछ मांगों को पूरा करने का काम शुरू कर दिया है। मुख्यत: मांगे जिनमें टूटी हुई सड़के, बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों, पास हुई सड़क निर्माण को दूर करवाना, बेसहारा गोवंश को गौशाला में भेजना, ऑटो मार्केट की ट्रांसफर पॉलिसी को शुरू करना, पार्कों की दुर्दशा को ठीक करना, ऑटो मार्केट में सड़के व स्ट्रीट लाइटों को दुरुस्त करना, मेडिकल कॉलेज का निर्माण चालू करवाना, बियानी मार्केट में पार्किंग प्रोजेक्ट शुरू करना, शहर में अन्य स्थानों पर पार्किंग प्रोजेक्ट शुरू करना, नशा तस्करों पर शिकंजा कसना, किसानों की खेती का बकाया मुआवजा रिलीज करना, स्कूलों को बंद न करना, सिरसा में एग्रीकल्चर से संबंधित उद्योगों को स्थापित करना, गड्ढे के कारण डॉ. रुमि सिंगला की हुई मौत पर उसके परिवार को मुआवजा व न्याय दिलाना, दिल्ली पुल से पंसारी फिलिंग स्टेशन तक स्ट्रीट लाइट लगवाना इत्यादि को लेकर चर्चा हुई है।


कांग्रेसजनों ने कहा कि हमें उपायुक्त की तरफ से आश्वासन मिला है कि इन मांगों को पूरा किया जाएगा। मुख्यमंत्री हरियाणा से बातचीत के लिए समय दिलवाया जाएगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो कांग्रेस पूर्ण रूप से सीएम दौरे का विरोध करेगी।