logo
अरोड़वंश समाज के पूर्वजों का आभार, जो आरक्षण न लेकर पुरुषार्थ को अपनाया - मनोहर लाल
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सिरसा में किया श्री अरोड़वंश सेवा सदन का शिलान्यास
 
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सिरसा में किया श्री अरोड़वंश सेवा सदन का शिलान्यास

Mhara Hariyana News:
सिरसा


हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि मैं अरोड़वंश समाज के पूर्वजों का आभारी हूं जो उन्होंने आरक्षण न लेकर पुरुषार्थ के रास्ते को अपनाया। इस रास्ते पर चलकर उन्होंने मेहनत की और देश की तरक्की में अहम योगदान निभाया। मुख्यमंत्री रविवार को सिरसा में श्री अरोड़वंश सेवा सदन के शिलान्यास अवसर पर जनता को संबोधित कर रहे थे।


मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि आज का अवसर समाज के उस वर्ग को याद करने का दिन है, जो स्वाभिमान और संघर्षशील भाव से काम करने वाला है। इस समाज ने देश के विभाजन के समय अपना सब कुछ खो दिया था और इसके बावजूद भारत में आने के बाद खेती, व्यापार, नौकरी व अन्य क्षेत्रों में मेहनत कर अपनी पहचान बनाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भी विभाजन की पीड़ा को समझा और हर वर्ष 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है। इससे युवा पीढ़ी को विभाजन की पीड़ा को समझने का अवसर मिलेगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अखंड भारत को आजाद करवाने का लक्ष्य लिया था लेकिन 14 अगस्त को विभाजन की वेदना झेली थी और 15 अगस्त को देश की आजादी की प्रसन्नता भी थी। इस दोहरे घटनाक्रम का साक्षी अरोड़वंश समाज बना था। यह विभाजन की पीड़ा हमें अपने बुजुर्गों से सुनने को मिलती है। उन्होंने कहा कि यह समाज सब गंवाने के बाद भी पैरों पर खड़ा हुआ और अच्छे-अच्छे स्थानों पर पहुंचा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद संविधान निर्माताओं के समक्ष वंचित समाज के लोगों के लिए आरक्षण का प्रावधान कर मुख्यधारा में लाने की बात पर विचार विमर्श हुआ था। इसमें विभाजन की त्रासदी झेलने वाले लोगों को आरक्षण दिया जाए या नहीं, इस पर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं अरोड़वंश समाज के पूर्वजों का आभारी हूं, जो उन्होंने आरक्षण न लेकर पुरुषार्थ का रास्ता अपनाया। आज इस समाज ने बहुत तरक्की की और ख्याति प्राप्त की। विज्ञान, व्यवसाय, नौकरी, व्यापार, शिक्षा हर क्षेत्र में लोग आगे बढ़े हैं।  


अग्रवंश और अरोड़वंश समाज का भाईचारा ऐसे ही बना रहे
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि अग्रवंश और अरोड़वंश समाज का भाईचारा ऐसे ही बना रहे। क्योंकि अरोड़वंश सेवा सदन का यह भवन अग्रवाल सेवा सदन के साथ बन रहा है। यह भाईचारा आगे की पीढ़ी के लिए जरुरी है। उन्होंने कहा कि अरोड़वंश समाज का यह भवन जहां बनाया जा रहा है, उसकी जमीन अलॉट में कई तरह की बाधाएं थी। इन्हें दूर करके समाज के काम को पूरा किया गया है। मुख्यमंत्री ने सिरसा की जनता को बधाई दी।
मुख्यमंत्री ने ऐच्छिक कोष से दोनों भवनों के लिए दिए 21-21 लाख रुपये
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अरोड़वंश सेवा सदन और अग्रवाल सेवा सदन दोनों भवनों के लिए 21-21 लाख रुपये देने की घोषणा की है। इसके साथ-साथ सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल ने दोनों भवनों के लिए 5-5 लाख रुपये और विधायक श्री गोपाल कांडा ने 11-11 लाख रुपये देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने लोगों को यह भी आश्वासन दिया कि आगे भी किसी तरह की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने सिरसा को दिया तोहफा - सुनीता दुग्गल
सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल ने कहा कि शहीद मदन लाल ढींगड़ा जयंती के अवसर पर अरोड़वंश सेवा सदन का शिलान्यास मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने किया है। यह भवन हरियाणा के लिए नहीं पूरे देश के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत करेगा। यहां पर अग्रवाल सेवा सदन व अरोड़वंश सेवा सदन दोनों भवनों को एक समान रूप दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने एक अभिभावक के रूप में सिरसा को यह तौहफा दिया है।  
अग्रवाल सेवा सदन व अरोड़वंश सेवा सदन हिंदुस्तान में मिशाल बनेगा - गोपाल कांडा
विधायक श्री गोपाल कांडा ने कहा कि ऐतिहासिक नगरी सिरसा की धरा पर आज अरोड़वंश सेवा सदन की आधारशिला रखी है। इसके आसपास बिश्नोई मंदिर, आर्य समाज मंदिर, शिव मंदिर पहले से ही हैं। अग्रवाल सेवा सदन व अरोड़वंश सेवा सदन बनने के बाद इस जगह का धार्मिक महत्व बनेगा और हिंदुस्तान में मिशाल बनेगा। उन्होंने इस अवसर पर पहुंचने पर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद भी किया।
विधायक गोपाल कांडा व अग्रवाल समाज के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को स्मृति चिन्ह देकर उनका अभिनंदन किया। इस अवसर पर उपायुक्त पार्थ गुप्ता, पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन, अमरपाल राणा, अमन चोपड़ा, भूपेश मेहता, गोविंद कांडा, श्री अरोडवंश सेवा सदन के अध्यक्ष ओमप्रकाश मक्कड़, कार्यकारी प्रधान रामनारायण कक्कड, महासचिव राजेंद्र मकानी, अरोड़ वंश सभा के प्रधान वीरेंद्र बाहिया, अखिल भारतीय अरोडा एकता परिवार के अध्यक्ष बीबी ऐलावादी, नगर परिषद की पूर्व प्रधान रीना सेठी, अरूण मेहता, अनिल सर्राफ, वीरेंद्र, डा. कुलबीर ढाका, नवदीश गर्ग, नितिन सेठी, नरेंद्र कटारिया, मोहन लाल चलाना, अमित चुघ, डा. राजकुमार ढींगरा, सतीश सचदेवा, सन्नी सिंह, मोहनलाल चलाना, श्री अग्रवाल सभा की ओर से प्रधान गौरव गोयल, महासचिव अंजनी कनोडिया, पूर्व प्रधान अनिल सराफ, अश्वनी बंसल, इंद्रेश लक्ष्य गुज्जर आदि मौजूद थे।