logo
Haryana Solar Village: हरियाणा के ये दो गांव होंगे पहले सोलर विलेज, जानिए अभी
बता दें कि विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली चाहते हैं कि प्रदेश के सभी गांवों को सोलर विलेज बनाया जाना चाहिए. इसके लिए उनके तरफ से प्रस्ताव भी तैयार किया गया था
 
Haryana Solar Village

Mhara Hariyana News: हरियाणा के डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला और विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली के विधानसभा क्षेत्र के 2 गांवों को अब Solar Village बनाया जा रहा है. बता दें कि यह दोनों ही गांव अब बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनने वाले हैं. इन दोनों गांवों के हर घर, चौपाल व सरकारी संस्थाओं में अब सूर्य से पैदा होने वाली बिजली ही जलेगी . ऐसा होने से यहां के लोग अपनी जरूरत के हिसाब से बिजली का Use कर पाएंगे.


यह गांव बनेंगे बिजली के मामले में आत्मनिर्भर
यदि यहां पर ज्यादा बिजली होती है, तो प्रदेश सरकार भी उसे खरीदेगी. इसके लिए तकनीकी System भी खड़ा किया जाएगा. बता दें कि इस दिशा में Work शुरू कर दिया गया है. अब हरियाणा सरकार की इस योजना के तहत पंचायतों व शहरी निकायों की गलियों में सौर ऊर्जा से Light’s जलेंगी. डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की उचाना विधानसभा का गांव गुरुकुल खेड़ा और पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली की विधानसभा टोहाना का गांव बिढाईखेड़ा सोलर विलेज बनेंगे

सीएम ने भी की देवेंद्र बबली के इन प्रयासों की सराहना 
बता दें कि विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली चाहते हैं कि प्रदेश के सभी गांवों को सोलर विलेज बनाया जाना चाहिए. इसके लिए उनके तरफ से प्रस्ताव भी तैयार किया गया था. अधिकारियों की तरफ से सलाह दी गई कि पहले पायलट Project योजना के तहत काम किया जाना चाहिए, इसके बाद इस दिशा में काम किया जा सकता है. हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर ने भी देवेंद्र बबली के प्रयासों की सराहना की थी और कहा था कि पायलट प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद से ही प्रदेश के सभी गांवों को सौर ऊर्जा पर लाने की दिशा में सरकार की तरफ से तेजी से कार्य किया जाएगा.


इस दिशा में किया जाएगा कार्य 
हरियाणा के बिजली निगमों के चेयरमैन Pk Das ने भी डिप्टी सीएम और देवेंद्र सिंह बबली के इन प्रयासों की सराहना की. उनके इस कदम से बाकी मंत्रियों और सांसदों को भी प्रेरणा मिलेगी. पीके दास ने कहा कि हरियाणा में जमीन काफी उपजाऊ है, जिस वजह से महंगी भी है. इसलिए हम यहां अपने खुद के बड़े Solar Plant नहीं लगा सकते. प्रदेश सरकार गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश से सोलर पावर की खरीद करेगी. वही सोलर गांव विकसित करने का फायदा यह होगा कि लोग अपने खुद के प्लांट भी लगा पाएंगे.