logo

एसडीएम व कृषि विभाग के अधिकारियों को पराली जलाने की घटनाओं पर नजर रखने के निर्देश दिए: उपायुक्त पार्थ गुप्ता

किसानों को हेप्पी सीडर व सुपर सीडर से सीधे गेहूं की बीजाई करने के लिए भी प्रेरित करें।
 
एसडीएम व कृषि विभाग के अधिकारियों को पराली जलाने की घटनाओं पर नजर रखने के निर्देश दिए: उपायुक्त पार्थ गुप्ता

Mhara Hariyana News, Sirsa

सिरसा।


उपायुक्त पार्थ गुप्ता ने सभी एसडीएम व कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी 10 दिनों तक जिला में पराली जलाने की घटनाओं पर कड़ी निगरानी रखें। इसके लिए अपने-अपने क्षेत्रों में स्टॉफ की भी ड्यूटी लगाएं तथा किसानों से भी निरंतर संपर्क करते हुए उन्हें पराली न जलाने बारे तथा इसके दुष्परिणामों के बारे में जागरूक करते रहें।


उपायुक्त वीरवार को लघु सचिवालय के सभागार में पराली प्रबंधन को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि किसानों में जागरूकता आएगी तो पराली जलाने संबंधी घटनाओं में भी कमी आएगी। किसानों को हेप्पी सीडर व सुपर सीडर से सीधे गेहूं की बीजाई करने के लिए भी प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि अबतक जिला में पराली जलाने पर 91 किसानों पर 2 लाख 55 हजार रुपये का जुर्माना किया जा चुका है।

अगर कोई किसान आगामी दिनों में भी पराली जलाने जैसी घटनाओं में संलिप्त मिलता है तो उस पर जुर्माने जैसी कार्रवाई तुरंत अमल में लाई जाए। उन्होंने कहा कि हालांकि पिछले सालों की तुलना में इस बार पराली जलाने की घटनाओं में काफी कमी आई है, लेकिन सीजन की समाप्ति तक सभी गांवों पर कड़ी निगरानी बनाए रखने की आवश्यकता है, इसलिए सभी अधिकारी आगामी 10 दिनों तक सभी गांवों व खेतों में कड़ी निगरानी रखें। रेड जोन वाले गांवों के आसपास फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां भी तैनात कर दी जाएं ताकि आगजनी की घटना होने पर तुरंत उसे बुझाया जा सके।


बैठक में सहायक आयुक्त (प्रशिक्षण) आईएएस यश जालुका, एसडीएम ऐलनाबाद डा. वेद प्रकाश, एसडीएम डबवाली शंभु राठी, एसडीएम कालांवाली उदय सिंह, एसडीएम सिरसा राजेंद्र कुमार, नगराधीश अजय सिंह, उप निदेशक कृषि डा. बाबूलाल सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।