logo
एसजीपीसी के प्रधान दादूवाल ने किया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत कहा प्रदेश भर के लोगों की हुई जीत
जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल ने कहा कि रात्रि में मुख्यमंत्री से भी मुलाकात हुई।
 
जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल
Mhara Hariyana News: 
सिरसा। हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल बुधवार को सिरसा पहुंचे और गुरुद्वारा श्री दसवीं पातशाही में मीडिया से रूबरू हुए। उन्होंने हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया।

जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल ने कहा कि एक लंबी लड़ाई लड़ी गई जिसके बाद प्रदेशभर के लोगों की जीत हुई है। बादल परिवार हमेशा से ही हरियाणा के गुरुद्वारों पर कब्जा जमाना चाहते थे लेकिन जिस प्रकार से सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच ने फैसला दिया, देश भर से बधाइयां आ रही है।

 विचार विमर्श हुआ था। ऐसे में कहना चाहूंगा कि हरियाणा के गुरुद्वारों में किसी भी मेंबर को बदला नहीं जाएगा। लेकिन सरकार ने जो फैसले लेने है,वह सरकार की जिम्मेदारी है। मौजूदा पंजाब सरकार ने भी हमारे हक में लिखित बयान दिए।

सरदार धामी द्वारा इस फैसले को चैलेंज करने पर दादूवाल ने कहा कि लोकतंत्र में सभी का अधिकार है लेकिन उन्होंने 11 साल से गुरुद्वारा के इलेक्शन ही नहीं करवाए, ऐसे में वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चैलेंज करने के लिए लीगल है भी या नहीं, पहले ये देखना होगा।

सुखबीर बादल द्वारा एजेंट कहने के सवाल पर दादूवाल ने कहा कि सारा पंथ जानता है कि कौन किसका एजेंट है। अगर सिखों के हकों की लड़ाई लड़ना, एजेंट होना है, तो मुझे खुशी है।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सभी को स्वागत करना चाहिए। गुरु की गोलक का पैसा अब हरियाणा के हितों में खर्च होगा। इस दौरान शिरोमणी सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की लोकल बॉडी के प्रधान प्रकाश सिंह साहुवाला ने हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में कार्य करने का ऐलान किया। इस दौरान जत्थेदार बलजीत सिंह दादूवाल को सरोपा भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर मालक सिंह भावदीन, बलकार सिंह फौजी, संतोख सिंह अमरासर, जसपाल सिंह संतावाली, जगमीत सिंह बराड़ सहित अन्य सिख मौजूद थे।