logo
सरकार जनता की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है- आप
The government is trying to suppress the voice of the people- AAP
 
The government is trying to suppress the voice of the people- AAP

Mhara Hariyana News: 
सिरसा

फतेहाबाद के भाजपा विधायक दूड़ाराम पर नौकरियों की एवज में सरेआम लाखों रूपये लेने के मामले की सी.बी.आई. जांच व जिला सिरसा में रोजाना नशे से बड़ी संख्या में युवको की मौतों के मुद्दे को लेकर आम आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री के सिरसा दौरे का विरोध करने उनके घेराव के लिए राष्ट्रीय परिषद सदस्य विरेन्द्र कुमार, किसान विंग प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मपाल लाट, जोन अध्यक्ष कुलदीप गदराना की अध्यक्षता में नगरपरिषद् रोड पर एकत्रित हुए।

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मुख्यमंत्री से नौकरियां बेचने के मामले की सी.बी.आई. जांच और चिट्टे से हो रही मौतों का जवाब मांगने जलूस की शकल में नारेबाजी करते हुऐ मुख्यमंत्री का घेराव करने के लिए जनता दरबार की तरफ रवाना हुए तो पुलिस ने आप कार्यकर्ताओं को रास्ते मे रोक लिया।

आप नेता मुख्यमंत्री के घेराव को लेकर अे रहे, जिसको लेकर पुलिस और आप नेताओ में टकराव हुआ और पुलिस ने घेराव करने जाते हुए आप पदाधिकारियों को गिरफ्तार करके बसों में बैठकर सिरसा से ऐलनाबाद थाने में ले गए।

राष्ट्रीय परिषद् सदस्य विरेन्द्र कुमार व किसान विंग प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मपाल लाट, जोन अध्यक्ष कुलदीप गदराना ,वरिष्ठ नेता हैप्पी रानियां ने संयुक्त रूप से कहा कि हरियाणा में 30 लाख युवक बेरोजगार हैं परन्तु पिछले सात सालों से गठबंधन सरकार में बिना पर्ची-खर्ची के योग्यता के आधार पर नौकरियां देने का ढिंढोरा पीटा जा रहा है। प्रदेश के तथाकथित यशस्वी व ईमानदार मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पिछले सात सालों से नौकरियों के नाम पर सफेद झूठ बोल रहे है जबकि वास्तविकता यह है कि सरेआम बोली लगाकर नौकरियां बेची जा रही हैं।

फतेहाबाद के भाजपा विधायक दूड़ाराम के प्रकरण में साबित हो गया है कि सरकार के विधायकों द्वारा सरेआम नौकरियां बेचकर करोड़ों रूपया एकत्रित किया जा रहा है। विधायक और मंत्री नौकरियां बेचने में संलिप्त हैं, अकेले दूड़ाराम ही नहीं सरकार के सभी विधायक और मंत्री भी नौकरियां बेचने के काले धंधे में संलिप्त हैं। इसके अलावा सिरसा जिले में भाजपा नेताओं के संरक्षण में नशे का कारोबार फल फूल रहा है, प्रशासन सरकार के दबाव में चिट्टे के तस्करों पर कार्यवाही नही कर रहा है।

जिला सिरसा में रोजाना नशे के सेवन से अनेक युवाओं की मौत हो रही है। प्रतिवर्ष हजारों युवक नशे से जिला सिरसा में मर रहे हैं, सरकार नोकरियां बेचने वालों को गिरफ्तार नही कर रही है, चिट्टा बेचने वालों को गिरफ्तार नही कर रही रही है, नौकरियां बेचने वालों और चिट्टा बेचने वालों के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियों को गिरफ्तार कर रही है, हम डरने वाले नही है और 30 लाख बेरोजगार युवकों की आवाज बुलन्द करते रहेंगे।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए नेताओं में पूर्व जोन अध्यक्ष लक्ष्य गर्ग, वरिष्ठ नेता हंसराज सामा, श्याम लाल मेहता, सतीश कुमार मोमी, चन्द्र बेगू, मनजीत सिंह बठला, महावीर चौबुर्जा, सिकन्दर खट्टर, दारा सिंह दमदमा, गुरभेज सिंह गिल, अनिल चन्देल, सुजल अनेजा, मनप्रीत सिंह, सुरजीत सिंह बेगू, हरबंस लाल, के.सी. कम्बोज, फौजा सिंह, दलीप सिंह, प्रेम कुमार, करणवीर, सौरभ राठौड़, राजकुमार वधवा, प्रमोद वधवा, सतनाम कम्बोज, जगदीश अबूबशहर, संदीप बराड़, नवदीप सिंह, चन औलख, मनीष कुमार, बूटा सलारपुर, लक्ष्मण, मक्खन सिंह, बलजीत सिंह सरपंच, सचिन तनेजा, लाला सिंह, रिछपाल सिंह रानियां, मक्खन सिंह, बनवारी लाल फौजी, नवदीप सिंह, सुखचैन सिंह, हरबंस लाल, इकबाल सिंह, राजन हिन्दुस्तानी, बूटा सिंह, रणजीत सलारपुर, विजय मोंगा, सुभाष पीली मन्दोरी, राकेश नम्बरदार, चन्द्रशेखर पंजुआना, योगेश मेहता, सन्नी फुटेला, रोहन, सुरेश कुमार, करमूनाथ, कुलदीप सिंह, पूर्ण चन्द, दरिया सिंह, हनुमान जांदू, विजय नौखवाल, गुरप्रेम सिंह, राजसिंह कंग, लेखराज, गुरपाल सिंह, तोता सिंह, काला सिंह, मनीष अरोड़ा, गोपाल, विजय ऐलनाबाद सहित अन्य कार्यकर्ता शामिल थे।