logo
मंडियों में किसानों की फसल की नमी मापने के यंत्रों की है भारी किल्लत: अभय सिंह चौटाला
मंडियों में जो नमी मापक यंत्र उपलब्ध हैं वो कई साल पुराने हैं और उनमें से ज्यादातर खराब हो चुके हैं
 
SIRSA NEWS

Mhara Hariyana News: चंडीगढ़

इनेलो के प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मंडियों में धान और बाजरे की फसल की आवक शुरू हो गई है लेकिन भाजपा गठबंधन सरकार ने मंडियों में किसानों के लिए जरूरी सुविधाओं पर कोई ध्यान नहीं दिया है।

मंडियों में किसानों की फसल की नमी मापने के यंत्रों की भारी किल्लत है। मंडियों में जो नमी मापक यंत्र उपलब्ध हैं वो कई साल पुराने हैं और उनमें से ज्यादातर खराब हो चुके हैं।

हर साल नमी मापक यंत्रों की लैबोरेट्री में जांच अनिवार्य है जबकि इन यंत्रों को खरीदने के बाद आज तक इनकी जांच नहीं करवाई गई है। खरीद सीजन में मंडियों में एक ही समय में धान बहुत बड़ी मात्रा में आता है। नमी मापने के यंत्र पर्याप्त मात्रा में न होने और लैबोरेट्री से सत्यापित न होने के कारण किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है और कई-कई दिन मंडियों में ही बिताने पड़ते हैं।

वहीं पड़ोसी राज्य पंजाब की प्रत्येक मंडियों में नमी मापक यंत्र प्रयाप्त संख्या में हैं और हर साल उन यंत्रों को लैबोरेट्री में सत्यापित करवाया जाता है। सरकार को चाहिए कि समय रहते सभी मंडियों में प्रयाप्त संख्या में नमी मापक यंत्र उपलब्ध करवाए और हर साल लैबोरेट्री में उनकी जांच करवाए ताकि अन्नदाता को नुकसान न झेलना पड़े।

भाजपा गठबंधन सरकार किसानों की बाजरे और धान की फसल का एक एक दाना एमएसपी पर खरीदे और बारदाने और फसल का उठान समय पर किया जाए।

ई-पेमेंट लागू कर भाजपा सरकार बड़े अनाज व्यापरियों को फायदा देने का काम कर रही है। ई-नेम के कारण बड़े अनाज व्यापारी किसानों की फसलों को मनमाने रेट पर खरीदेंगे जिससे आढतियों और किसानों को भारी नुकसान होगा।

ई- पेमेंट के खिलाफ 19 सितम्बर को पूरे हरियाणा के आढ़तियों द्वारा की जाने वाली हड़ताल को इनेलो का पूर्ण समर्थन रहेगा। भाजपा गठबंधन सरकार अपनी हठधर्मिता छोड़ कर पुरानी पद्धति लागू करे।