logo
डेरा सच्चा सौदा में आज होगा खास, महापरोपकार दिवस पर होगा बड़ा आयोजन
आज के दिन संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां बने थे डेरे के नए उत्तराधिकारी
 
dera sirsa

Mhara Hariyana News, Sirsa। Dera Sacha Sauda। Maha Paropkar Diwas, GurgaddiDiwas

डेरा सच्चा सौदा में आज कुछ खास होने जा रहा है। डेरा में आज शुक्रवार को महा परोपकार दिवस मनाया जा रहा है। आज के दिन यानि 23 सितंबर का डेरा के इतिहास में बड़ा महत्व है। आज ही के दिन परम संत शाह सतनाम जी महाराज ने पूज्य गुरु संत डा. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां को अपना स्वरूप बनाते हुए उन्हें डेरा सच्चा सौदा का उत्तराधिकारी बनाया था। उन्हें डेरे की बागड़ोर सौंपी थी। 23 सितंबर 1990 के दिन शाह मस्ताना जी धाम में आयोजित सत्संग के दौरान शाह सतनाम जी ने पूज्य गुरुजी को अपना रूप बताते हुए फरमाया कि हम थे, हम हैं और हम ही रहेंगे। 

dera sacha ji

----
चर्चाएं यह भी है कि आ सकते हैं डा. एमएसजी

डेरा अनुयायियों में चर्चाएं हैं कि पूज्य गुरुजी एक बार फिर पैरोल पर बाहर आ सकते हैं। यह भी चर्चाएं हैं कि शुक्रवार को सत्संग के दौरान कुछ खास, कुछ बड़ा हो सकता है। ऐसे में यह संभव है कि डा. एमएसजी एक बार फिर से संगत को दर्श दीदार देने के लिए सबके बीच पहुंचे। इससे पहले वे जुलाई महीने में एक महीने तक पैरोल पर बाहर आ चुके हैं। पूज्य गुरुजी के दर्शनों के लिए हर कोई बेताब नजर आ रहा है। 

dera sacha
-------
32 सालों में डेरा सच्चा सौदा ने की अभूतपुर्व तरक्की, रूहानियत के साथ साथ समाजसेवा का भी वटवृक्ष
पूज्य गुरुजी के हाथों में डेरा की बागड़ोर आने के बाद डेरा ने अभूतपुर्व तरक्की की। देश के विभिन्न राज्यों के साथ साथ विदेशों में भी आश्रम व नामचर्चा घर खोले गए। पूज्य गुरुजी ने हजारों जगह सत्संग कर लाखों लोगों को गुरुमंत्र नामशब्द देकर उन्हें रूहानियत से जोड़ा और नशे, मांसाहार जैसी बुराइयों से दूर रहने का संकल्प करवाया। रूहानियत के साथ साथ डेरा ने अनोखा प्रयास किया समाजसेवा के क्षेत्र में । दीन दुखियों के साथ साथ हर जरूरतमंद का साथी बना डेरा सच्च्चा सौदा।

dera sirsa

एक ही दिन में हजारों यूनिट रक्तदान कर लोगों को रक्तदान करने का संदेश तो कभी निशक्तजनों, नेत्रहीनों के लिए मेडिकल कैंप लगाकर उनके जीवन में आशा की नई किरण जगाई। हजारों लोगों को मकान बनाकर दिये तो जरूरतमंद लड़कियों की शादियों में हर संभव सहयोग किया। मानवता की सेवा में मरणोंपरांत नेत्रदान व शरीरदान की अलख जगाने में भी डेरा का सहयोग अभूतपुर्व रहा। 
पूज्य गुरुजी द्वारा अब तक 142 मानवता भलाई के कार्य शुरू किए जा चुके हैं और सब एक से बढ़कर एक हैं। हो पृथ्वी साफ मिटे रोग अभिशाप जैसे सफाई महाअभियानों में एक ही दिन में दिल्ली मुंबई जैसे बड़े महानगरों को साफ करने के अभियान से मानों स्वच्छता को लेकर नई क्रांति का आगाज हुआ हो। बेटियों को बेटों के समान अधिकार दिलवाने, खेलों को बढ़ावा देने, नारी शिक्षा, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में भी डेरा का सहयोग शानदार रहा है। 
------------
तैयारियां जोरों पर 
पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां का 32वां पावन गुरुगद्दी नशीनी दिवस 23 सितंबर शुक्रवार को शाह सतनाम जी धाम, सिरसा में महापरोपकार दिवस के रूप में धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। पावन भंडारे की नामचर्चा को लेकर प्रबंधन द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। विभिन्न समितियों के सेवादारों ने पावन भंडारे को लेकर अपनी-अपनी ड्यूटियां संभाल ली हैं। पावन भंडारे पर आयोजित होने वाली नामचर्चा का समय सुबह 11 से दोपहर 1 बजे का रहेगा।