logo

जिला पुलिस की बड़ी उपलब्धि ,एटीएम फ्रॉड गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन सदस्यों को मुंबई से दबोचा

 
जिला पुलिस की बड़ी उपलब्धि  ,एटीएम फ्रॉड गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन सदस्यों को मुंबई से दबोचा
WhatsApp Group Join Now

सिरसा

पुलिस अधीक्षक विक्रातं भूषण के दिशा निर्देशानुसार गठित की गई जिला की साइबर पुलिस स्टेशन की टीम ने जांच के दौरान महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए बीती 20 सितंबर 2023 को ऐलनाबाद के गांव तलवाड़ा खुर्द निवासी एक महिला के साथ हुई लाखों रुपए की एटीएम फ्रॉड की घटना को सुलझाते हुए एटीएम फ्रॉड गिरोह का पर्दाफाश कर तीन आरोपियों को मुंबई से गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की है ।

इस संबंध में जानकारी  देते हुए डीएसपी जगत सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान मोहम्द तोहिद पुत्र अजीम शेख आईसा मंजिल आंनद कोलीवाड़ा मुंबई,मोहम्द तोसिफ पुत्र महम्दुल हसन निवासी मुबरा अमृनगर,मुंबई व मोहम्द जुनैद अली पुत्र जाऊदीन अहमद कादरी निवासी नूरी बाग संजय नगर, मुंबई के रुप में हुई है ।

डीएसपी जगत सिंह मोर ने बताया कि इस संबंध में तलवाड़ा खुर्द निवासी शैफाली पुत्री सतीश कुमार के ब्यान पर साइबर पुलिस स्टेशन सिरसा में अभियोग दर्ज कर जांच शुरु की गई थी । उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण द्वारा गठित  साइबर पुलिस स्टेशन सिरसा की  टीम ने जांच के दौरान महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए आरोपियों को काबू कर लिया । डीएसपी जगत सिंह मोर ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों की निशानदेही पर एप्पल फोन तथा 31 हजार रुपए की नगदी बरामद कर ली गई है । उन्होंने बताया कि पकड़े गए तीनों आरोपियों को सिरसा अदालत में पेश किया जाएगा ।

डीएसपी जगत सिंह ने बताया कि बीती 13 सिंतबर 2023 को तलवाड़ा खुर्द निवासी शैफाली मैहता ने ऐलनाबाद के एक्सिस बैंक में खाता खुलवाकर करीब एक लाख 74 रुपए की एफडी के रुप में अपने खाते में जमा करवाए थे । उन्होंने बताया कि 20 सिंतबर 2023 को एटीएम वेरिफिकेशन करने के बहाने एक अज्ञात नंबर से कॉल आई थी,और उसके बाद फोन करने वाले व्यक्ति ने शैफाली मैहता से ओटीपी नंबर लेकर उसके खाते से 1लाख 73 हजार 400 रुपए निकाल लिए । डीएसपी जगत सिंह ने बताया कि इस संबंध में शेफाली मैहता ने हेल्पलाइन नंबर 1930 पर कॉल कर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवा दी थी । 

 *वारदात करने का तरीका*  :-

डीएसपी जगत सिंह मोर ने बताया कि शिकायतकर्ता शैफाली मैहता के पास आरोपियों ने फोन कॉल कर एटीएम कार्ड पंहुचाने के बहाने उसके फोन पर आए ओटीपी नंबर लेकर उसके खाते का न्यू पिन नंबर जरनेट कर खाते से एक लाख 20 हजार रुपए का एप्पल का मोबाइल फोन खरीद लिया और 50 हजार रुपए की राशि उसके खाते से निकाल कर 3400 रुपए का मोबाइल चार्ज करने वाला पावर बैंक खरीद कर उसका खाता खाली कर दिया ।

पुलिस जांच के दौरान सामने आया है कि पकड़े गए आरोपियों में मोहम्मद तोसिफ डाकखाने का कर्मचारी है,और जो एटीएम डाकखाने में कस्टमर के पास भेजने के लिए आते थे,उन्हें कस्टमर के पास भेजने की बजाय अपने दूसरे साथियों को फ्रॉड के लिए दे देता था ।

उन्होंने बताया कि पुलिस जांच के दौरान सामने आया है कि मोहम्द तोसिफ एटीएम अपने अन्य साथियों को देने की एवज में प्रत्येक एटीएम के पांच हजार रुपए  लेता था । गिरोह के अन्य साथी एटीएम हाथ में आने के बाद उक्त कस्टमर के दिए गए पते पर संपर्क कर एटीएम वेरीफिकेशन के बहाने ओटीपी नंबर पूछकर न्यू पिन जरनेट कर उसका खाता खाली कर देते थे ।

डीएसपी जगत सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी तोहिद के खिलाफ तीन मामले,तोसीफ के खिलाफ एक अपराधिक मामला मुंबई में पहले से ही दर्ज है जबकि तीसरे आरोपी जुनैद का अपराधिक रिकार्ड खंगाला जा रहा है । 

डीएसपी जगत सिंह मोर ने आमजन से अपील करते हुए व्हाट्सएप व ई-मेल पर आने वाले फर्जी लिंक से सावधान रहने की सलाह देते हुए कहा कि व्हाट्सएप या ई-मेल पर आए किसी भी संदिग्ध लिंक को न खोलें और बैंक संबधी किसी भी प्रकार की जानकारी साझा न करें, और न ही अपने मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को किसी अन्य व्यक्ति के साथ शेयर करें क्योंकि ऐसा करने से आप साइबर धोखाधड़ी का शिकार हो सकते हैं ।