logo

आप पार्षदों ने जिला परिषद चेयरमैन कर्ण चौटाला व जिला प्रशासन पर लगाए 40 प्रतिशत कमीशन के आरोप

पार्षदों के हिस्से की राशि नहीं देने पर चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला के निवास के बाहर धरना देगी आप
 
 
आप पार्षदों ने जिला परिषद चेयरमैन कर्ण चौटाला व जिला प्रशासन पर लगाए 40 प्रतिशत कमीशन के आरोप
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। आम आदमी पार्टी के 6 जिला पार्षदों ने मंगलवार को मीडिया से रू-ब-रू होते हु सिरसा जिला परिषद चेयरमैन कर्ण चौटाला व जिला प्रशासन पर विकास राशि में 40 प्रतिशत कमीशन लेने के गंभीर आरोप लगाए। मीडिया से बातचीत करते हुए आप जिलाध्यक्ष हैप्पी रानियां, जिला पार्षद जसदेव सिंह निक्का, गुरभेज सिंह गिल, मनजीत कौर, जिला पार्षद प्रतिनिधि बलविंद्र सिंह बराड़, जिला पार्षद प्रतिनिधि मानक सिंह, जिला पार्षद गुरचरण सिंह फौजी ने संयुक्त रूप से बताया कि एक साल पूर्व सिरसा जिला परिषद का गठन हुआ था।

सिरसा की जनता ने परंपरागत पार्टियों को नकारते हुए पहली बार आम आदमी पार्टी के 6 जिला पार्षद चुनकर जिला परिषद में विपक्ष की भूमिका में भेजे। आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता रोकने के लिए सभी दलों ने मिलकर संयुक्त रूप से इनेलो के कर्ण चौटाला को चेयरमैन बनाया। आम आदमी पार्टी के 6 पार्षद निर्वाचित होकर जिला परिषद हाऊस में गए तो पता चला कि हाऊस में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है। पिछले 20 सालों से जिला परिषद की कार्यवाही का संचालन चौटाला हाऊस से किया जा रहा था। आम आदमी पार्टी के पार्षद निर्वाचित होने के बाद प्रशासन को मजबूर होकर जिला परिषद हाऊस की कार्रवाई चौटाला निवास से स्थानांतरित कर जिला परिषद कार्यालय में करनी पड़ी। हाऊस के अंदर जाकर पता चला कि ग्रांटों की 40 प्रतिशत से अधिक राशि कमीशन के रूप में चौटाला परिवार और जिला प्रशासन के बड़े अधिकारी डकार जाते हंै। आम आदमी पार्टी ने कमीशन की इस बंदरबांट का जमकर विरोध किया और आम आदमी पार्टी के पार्षदों के बार-बार दबाव देने पर जिला परिषद चेयरमैन कर्ण चौटाला द्वारा जिला परिषद हाऊस की पिछले एक साल में सिर्फ 5 मीटिंगें रखी गई, जिसमें से एक मीटिंग में चेयरमैन स्वयं नहीं आए और तीन मीटिंगों को बीच में छोडक़र चले गए। जब चौटाला निवास में उसके हिस्से का 25 प्रतिशत कमीशन नहीं गया तो कर्ण सिंह चौटाला ने जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ मिलकर प्रदेश सरकार से गांवों के विकास के लिए मिली राशि को आबंटित नहीं किया। जिसके कारण ग्रांट का निर्धारित समय में प्रयोग नहीं होने के कारण पिछले साल की विकास राशि 9 करोड़ रुपए वापस चली गई और करीब 15 करोड़ रुपए की विकास राशि आबंटित नहीं होने के कारण फिर से वापसी की कगार पर है।

जिला परिषद चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला ने यदि अपनी कार्यप्रणाली को नहीं सुधारा और आम आदमी पार्टी के 6 पार्षदों को उनके हिस्से की ग्रांट राशि बगैर किसी कमीशन खोरी के आबंटित नहीं की तो आम आदमी पार्टी कर्ण सिंह चौटाला के निवास के बाहर अनिश्चितकालीन धरना लगाएगी। इस मौके पर जिला कार्यालय प्रभारी हंसराज सामा, युवा प्रदेश सहसचिव राजेश मलिक, सोशल मीडिया प्रभारी हरकीरत सिंह उपस्थित थे।