logo

कर्ण सिंह चौटाला द्वारा मीटिंग बीच में छोडऩे पर भडक़ी आप

आप जिला पार्षदों ने की जमकर नारेबाजी
 
कर्ण सिंह चौटाला द्वारा मीटिंग बीच में छोडऩे पर भडक़ी आप
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। आम आदमी पार्टी के दबाव में जिला प्रशासन द्वारा 25 जनवरी को फिर से जिला परिषद की विशेष मीटिंग बुलाई गई। मीटिंग में आप पार्षदों द्वारा जिला परिषद चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला व जिला प्रशासन से आम आदमी पार्टी के 6 जिला पार्षदों द्वारा अपने क्षेत्र के विकास के लिए जिला परिषद में रखे गए दर्जनों प्रपोजलों पर जवाब मांगा व जिला परिषद द्वारा वितरित की जा रही स्ट्रीट लाइट वितरण प्रक्रिया में हो रही गड़बडिय़ों पर सवाल किया तो चैयरमैन कर्ण सिंह चौटाला द्वारा लाइट वितरण कार्यक्रम में गड़बडिय़ों के लिए जिला प्रशासन के अधिकारियों को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि यह मेरे अधिकार क्षेत्र से बाहर का विषय है। इस पर आप पार्षद गुरचरण सिंह फौजी ने सवाल किया कि पिछले एक साल से चेयरमैन व जिला प्रशासन एक-दूसरे की जिम्मेवारी बताते हुए जिला पार्षदों को गुमराह कर रहे हंै और आज फिर आप जिला परिषद में पीछे हुई गड़बडिय़ों के लिए प्रशासन को जिम्मेवार बता रहे हंै। इस विषय पर कर्ण सिंह चौटाला व आप पार्षदों में जोरदार बहसबाजी हुई। कर्ण सिंह चौटाला आज भी बहसबाजी के बीच किसी एजेंडे पर चर्चा किए बगैर मीटिंग बीच में छोडक़र चले गए। मीटिंग बीच में स्थगित करने की घोषणा करते ही आप पार्षद भडक़ गए और उन्होंने कर्ण सिंह चौटाला के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।


आप जिलाध्यक्ष एवं पार्षद प्रतिनिधि हैप्पी रानियां, जिला पार्षद जसदेव सिंह निक्का, जिला पार्षद गुरभेज सिंह गिल, जिला पार्षद मनजीत कौर, जिला पार्षद प्रतिनिधि बलविंद्र सिंह बराड़, जिला पार्षद संदीप कौर, जिला पार्षद गुरचरण सिंह फौजी ने बताया कि जिला प्रशासन के अधिकारी चौटाला परिवार के हाथों की कठपुतलियां बने हुए हैं। चौटाला परिवार व जिला प्रशासन पिछले एक साल से लगातार मीटिंगों से भाग रहा है। आज की मीटिंग भी चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला बीच में छोडक़र चले गए हंै। इससे पहले भी मीटिंगों को या तो मौके पर रद्द कर दिया गया या फिर बीच में छोडक़र चले गए। इससे पहले आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला पर 40 प्रतिशत कमीशन के आरोप लगाए थे। चेयरमैन कर्ण सिंह चौटाला द्वारा मीटिंगों को रद्द करना और बार-बार बीच में छोडऩा आम आदमी पार्टी द्वारा लगाए गए आरोपों को पुख्ता करता है। आप नेताओं ने कहा कि पिछले 25 सालों से जिला परिषद को इनेलो ने बंधक बना रखा है।

हम जिला परिषद को इनेलो से आजाद करवाएंगे। इस मौके पर जिला राष्ट्रीय परिषद सदस्य विरेंद्र कुमार एडवोकेट, संस्थापक सदस्य धर्मपाल लाट, जिला कार्यालय प्रभारी हंसराज सामा, युवा प्रदेश सहसचिव राजेश मलिक, वरिष्ठ नेता रिछपाल सिंह, महावीर चौबुर्जा, फौजा सिंह, चन्न औलख, राजन हिंदुस्तानी, डा. सुकेश अरोड़ा, श्रवण सिंह, प्रमोद वधवा, नरेंद्र भटनागर, विजय मोंगा, रवि कंबोज, जगतार सिंह, जस मक्कड़, राजेंद्र सिंह सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।