logo

किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों की याद में निकाला कैंडल मार्च

13 फरवरी दिल्ली कूच को लेकर बीकेई ने निकाला ट्रैक्टर मार्च: औलख
 
 
किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों की याद में निकाला कैंडल मार्च
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। भारतीय किसान एकता बीकेई के प्रदेशाध्यक्ष लखविंदर सिंह औलख की अध्यक्षता में गांव खारिया की किसान मजदूर कमेटी के सहयोग से 13 फरवरी दिल्ली कूच को लेकर ट्रैक्टर मार्च निकाला गया। औलख ने कहा कि खारिया गांव सिरसा जिले के बड़े गांवों में आता है। यहां से बड़ी संख्या में किसान 13 फरवरी को दिल्ली कूच का हिस्सा बनेंगे। औलख ने गांव वासियों को 13 फरवरी के आंदोलन की मांगों के बारे में विस्तार से बताया, जिसमें स्वामीनाथन आयोग के तहत फसल खरीद की गारंटी का कानूनए किसान व मजदूर की संपूर्ण कर्जा माफी, भारत डब्ल्यूटीओ से बाहर आए, भूमि अधिग्रहण कानून में सुधार करके किसानों की जमीनों को लूटना बंद करें सरकार, नरमे सहित सभी फसलों के बीज में सुधार किया जाए, किसान आंदोलन की मांगों को पूरा किया जाए, लखीमपुर खीरी के किसान शहीदों को इंसाफ  और दोषियों को सजा मिले शामिल है।

संयुक्त किसान मोर्चा गैर-राजनैतिक व उत्तरी भारत की 18 किसान जत्थेबंदियों के सांझे ऐलान के तहत किसान शहीदों की याद में 26 जनवरी शाम को कैंडल मार्च निकाला गया। 26 जनवरी 2021 को दिल्ली किसान परेड में पुलिस की गोली लगने से शहीद हुए किसान नवरीत सिंह, लखीमपुर खीरी बीजेपी के मंत्री व उसके बेटे द्वारा गाडिय़ों से कुचलकर शहीद किए गए चार किसान व एक पत्रकार साथी सहित साढ़े 750 किसानों को श्रद्धांजलि दी गई। सिरसा में सुभाष चौक से लेकर भगत सिंह चौक तक, खारिया गांव में सुभाष चंद्र बोस पार्क तक, डबवाली में भी रेलवे पार्किंग से लेकर भगत सिंह स्मारक तक किसानी आंदोलन में शहीद हुए किसानों की याद में कैंडल मार्च निकाला गया।