logo

सबका साथ सबका विकास के नारे को चरितार्थ कर रहे मुख्यमंत्रीः निताशा सिहाग

जिलाध्यक्ष ने सिरसा जिला को 60 करोड़ रुपए की सौगात देने के लिए जताया आभार
 
सबका साथ सबका विकास के नारे को चरितार्थ कर रहे मुख्यमंत्रीः निताशा सिहाग
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। भारतीय जनता पार्टी की जिलाध्यक्ष निताशा राकेश सिहाग ने कहा कि सिरसा जिला में विधायक तो पांचों विपक्ष के हैं लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल सबका साथ सबका विकास की नीति से बिना भेदभाव सिरसा जिला के विकास में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। जिला वासी पिछले राज और अब के राज में अंतर महसूस कर रहे हैं और हर किसी के जुबान पर है कि यह राज-राज का अंतर है जो बिना भेदभाव काम हो रहा है। कांग्रेस के राज में क्षेत्रवाद के चलते सिरसा जिला से सौतेला व्यवहार होता था। हमें याद है कि ऐलनाबाद में उस समय एक उपचुनाव हुआ था और लोगों ने सरकारी कॉलेज की मांग की तो तब के मुख्यमंत्री ने शर्त लगा दी थी कि अगर यहां से विधायक जिताओगे तो ही वह काम करेंगे।

भाजपा जिलाध्यक्ष ने शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी की रिमॉडलिंग के लिए 1534 लाख रुपए मंजूर करने के लिए भी मुख्यमंत्री का ऐलनाबाद वासियों की तरफ से विशेष आभार मुख्यमंत्री जताया जिसका टेंडर एक सप्ताह पहले हुआ है। तीन दशक से ग्रामीण यह मांग रहे थे जो अब मनोहर शासन में पूरी हुई है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि हमारे जिला से ही जब मुख्यमंत्री थे तो ग्रामीणों की मांग पर बोलते थे कि पानी मत मांगना, आपका बर्तन ही खराब है। आज मुख्यमंत्री मनोहर लाल उसी बर्तन को ठीक कर रहे हैं। न केवल इस जिले से संबंध रखने वाले मुख्यमंत्री ने मांग को अनसुना किया तो उसके बाद दस साल तक राज करने वाली कांग्रेस के उस समय के मुख्यमंत्री ने भी क्षेत्रवाद की नीति के चलते सिरसा जिला को उपेक्षित करने के कारण पेयजल तक का बंदोबस्त नहीं किया। आज मनोहर शासन में ढाणी शेरांवाली, कर्मशाना, मिठनपुरा, किशनपुरा, खारी सुरेरां, मिट्ठी सुरेरां, पोहड़का जैसे दर्जनों टेल के गांवों में पीने के पानी की समस्या का समाधान होगा। इसी तरह यहां शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी के नीचे से जो साइफन के काम का शिलान्यास किया है उससे भी ऐलनाबाद क्षेत्र के किसानों को बहुत लाभ होगा और अब फ्लडी नहर बंद नहीं होगी जब हिसार-सिरसा ड्रेन ओवरफ्लो होती है। किसान लंबे समय से इस साइफन की मांग कर रहे थे।


निताशा सिहाग ने कहा कि भाजपा की रीति-नीति को आज प्रदेश की जनता समझ रही है और सरकार के कामकाज से अपने आपको चमत्कृत महसूस करती है। प्रदेश के हर वर्ग को लाभ पहुंचाने के साथ-साथ प्रदेश सरकार ने अंत्योदय को महत्व देते हुए पंक्ति के अंतिम व्यक्ति तक लाभ पहुंचाने का जो काम करके दिखाया है, उसने समूचे विपक्ष को मुद्दाविहीन कर दिया है। आने वाले समय में सरकार और भी अनेक प्रोजेक्ट्स पर काम करके जनता को लाभ पहुंचाने की दिशा में कदम उठा रही है।


इस मौके पर पूर्व विधायक मक्खन लाल सिंगला, वरिष्ठ नेता शीशपाल कंबोज, भूपेश मेहता, श्याम बजाज, जिला मीडिया प्रभारी कपिल सोनी, सुरेश पंवार, मंडलाध्यक्ष विजय सेठी, सुनील बहल, अजय शेरपुरा, वीरेंद्र तिन्ना आदि पार्टी पदाधिकारी साथ मौजूद थे।

इन परियोजनाओं का हुआ लोकार्पणः

  •  6 करोड़ 40 लाख 15 हजार रुपये लागत से गांव गोरीवाला में निर्मित 33 केवी सब स्टेशन,
  •  4 करोड़ 66 लाख 43 हजार रुपये की लागत से हुडा सेक्टर 20 में निर्मित 33 केवी सब स्टेशन
  •  9 करोड़ 23 लाख 68 हजार रुपये की लागत से गांव फतेहपुर नियामत खां में निर्मित 33 केवी सब स्टेशन
  •  13 करोड़ 47 लाख रुपये की लागत से 132.33 केवी पावर ट्रांसफार्मर के साथ 132 केवी एआईएस गांव जमाल में।
  • करीब 25 करोड़ रुपये की 8 परियोजनाओं का शिलान्यास किया है वो ये हैं-
  •  4 करोड 50 लाख रुपये की लागत से हिसार घग्गर मल्टीपर्पज ड्रेन के लिए शेरांवाली समानांतर चैनल, दक्षिणी घग्गर नहर और घग्गर बांध निकास मार्ग का निर्माण कार्य।
  •  8 करोड़ 78 लाख 70 हजार रुपये की लागत से आरडी 65000-116596 टेल से डबवाली डिस्ट्रीब्यूटरी की रीमॉडलिंग
  • 4 करोड़ 97 लाख 35 हजार रुपये की लागत से आरडी 0-57300 टेल से जंडवाला डिस्ट्रीब्यूटरी की रीमॉडलिंग
  •  एक करोड़ 10 लाख 51 हजार रुपये की लागत से धोतड़ से खारियां तक सड़क की विशेष मरम्मत,
  •  एक करोड़ 13 लाख 40 हजार रुपये की लागत से साहूवाला से शुगर मिल पन्नीवाला मोटा तक सड़क की विशेष मरम्मत
  •  एक करोड़ 5 लाख 12 हजार रुपये की लागत से फतेहपुरिया से मेहना खेड़ा तक सड़क का पुनर्निर्माण
  • एक करोड़ 74 लाख 19 हजार रुपये की लागत से जोधपुरिया से धोतड़ तक सड़क की विशेष मरम्मत
  • एक करोड़ 49 लाख 85 हजार रुपये की लागत से ऐलनाबाद में अनाज मंडी, सब्जी मंडी और लक्कड़ मंडी में चारदीवारी के निर्माण कार्य।

11 अमृत सरोवर का भी लोकार्पणः
इनमें गांव देसूजोधा में अनाजमंडी के पास, गांव कालूआना में बूस्टिंग स्टेशन के पास, गांव मुन्नांवाली में राजकीय स्कूल के पीछे, गांव फुल्लो में, गांव हारणी खुर्द में, गांव बालासर में, गांव खारियां कलां में, गांव खारियां में, गांव चोरमार खेड़ा व गांव पिपली शामिल हैं।